सुजान छंद (पर्यावरण)

पर्यावरण खराब हुआ, यह नहिं संयोग। मानव का खुद का ही है, निर्मित ये रोग।। अंधाधुंध विकास नहीं, आया है रास। शुद्ध हवा, जल का इससे, होय रहा ह्रास।। …

सोरठा “राम महिमा”

मंजुल मुद आनंद, राम-चरित कलि अघ हरण। भव अधिताप निकंद, मोह निशा रवि सम दलन।। हरें जगत-संताप, नमो भक्त-वत्सल प्रभो। भव-वारिध के आप, मंदर सम नगराज हैं।। शिला और …

झूठी तसल्ली देकर उम्मीदें न जगावो ….. भूपेन्द्र कुमार दवे

झूठी तसल्ली देकर उम्मीदें न जगावोमेरी कोठरी बुझे चिरागों से न सजावो। दरवाजे अगर बंद हैं खिड़की तो खोल दोमासूम जिन्दगी को कैदखाना न बनाओ। हिन्दु मुस्लिम सिख ईसाई …

।। मानव जीवन का लक्ष्य।।

जीवन प्राप्ति का उद्देश्य है क्या, किस पथ पे इसे ले जाना है, यह होता एक प्रबल मंथन, किस प्रकार इसे पार लगाना है ।। 1 ।। किस हेतु …

दोहे “होली”

होली के सब पे चढ़े, मधुर सुहाने रंग। पिचकारी चलती कहीं, बाजे कहीं मृदंग।। दहके झूम पलाश सब, रतनारे हो आज। मानो खेलन रंग को, आया है ऋतुराज।। होली …

सायली (होली)

सायली (होली) होली पावन त्योहार जीवन में लाया रंगों की बौछार। ********* होली जला देती अत्याचार, कपट, छल निष्पाप भक्त बचाती। ********* होली लाई रंग हों सभी लाल खेलें …

मंत्री जी…………………..देवेश दीक्षित

मंत्री जी ओ मंत्री जी मुँह उठा कर कहाँ चले धोती कुर्ता पहन के टोपी धूल उड़ाकर कहाँ चले अत्याचारों से लिपटी धरती सब तुम्हारी करनी है आतंकवाद की …

जीत………………….देवेश दीक्षित

बुराई पर अच्छाई की जीत उतनी ही जरूरी है जितनी की जिंदगी के लिए सांस जरूरी है उदासी को दूर करने के लिए मुरली की धुन जरूरी है अंधेरे …

नारी दिवस…………………………देवेश दीक्षित

नारी दिवस के महत्व को समझो मेरे यार नारी से ही है सृष्टि इसका करो सम्मान यदि न होती नारी तो कैसे बनता ये संसार कैसे आती झांसी की …

जन्माष्टमी ……………………..देवेश दीक्षित

बाल कृष्ण मुरली मनोहर जब भी खेल रचाएं एक सबक होता उसमें फिर परमानंद मनाएं प्रत्येक जीव उनकी धरोहर उन पर लाड़ लुटाएं उनकी रक्षा की खातिर वे दुष्टों …

संदीप माहेश्वरी……………………….देवेश दीक्षित

संदीप माहेश्वरी की कला को करते हैं हम प्रणाम कैसी कैसी फोटो देखो खींच के करे बड़ा नाम   जितनी बार भी बदला काम को फिर भी न मिला …

स्टीफन हॉकिंग…………………….देवेश दीक्षित

स्टीफन हॉकिंग का जलवा पूरी दुनिया ने देखा था इंग्लैंड ऑक्सफोर्ड में जन्मा ये बालक अलबेला था   पूरी दुनिया में जिसने नाम कमाया स्टीफन हॉकिंग वो इंसान था …

अन्ना हजारे……………………..देवेश दीक्षित

बचपन अन्ना हजारे का बीता बहुत गरीबी में आलम गरीबी का बुआ ने देखा तो ले आई अन्ना को मुंबई में   भारत पाकिस्तान का जब युद्ध छिड़ा अन्ना …

नरेंद्र मोदी…………………देवेश दीक्षित

नरेंद्र मोदी का पूरा नाम नरेंद्र दामोदरदास मोदी है अजब गजब के करते काम किस्मत न इनकी खोटी है   बचपन में पिता का साथ दिया पालन पोषण हुआ …

सचिन तेंदुलकर…………………..देवेश दीक्षित

सचिन तेंदुलकर की जीवन गाथा कैसे में सुनाऊं क्या है उनकी जीवन रचना क्या क्या मैं बताऊं   अजीत भाई ने सलाह बताई भविष्य है बल्लेबाजी में बहन का …

सुशांत सिंह राजपूत………………………..देवेश दीक्षित

सुशांत सिंह राजपूत की जीवनी कुछ यूं है मां बाप के पूत की दास्तान कुछ यूं है   पढ़ने लिखने की उम्र में मां ने प्राण त्याग दिए पटना …

सोनू सूद……………………..देवेश दीक्षित

सोनू सूद के महान कार्यों को करते हैं हम सलाम जैसे हो जब भी हो मदद करो देते हैं ये पैगाम   इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर नौकरी को किया …

अटल बिहारी वाजपेयी……………………देवेश दीक्षित

अटल बिहारी वाजपेयी का जन्म कृष्णा वाजपेयी की कोख से हुआ भारत देश के अद्भुत थे स्तम्भ अटल उनका बड़ा नाम हुआ   आजीवन विवाह न कर भीष्म पितामह …

सी वी रमन…………………………..देवेश दीक्षित

चन्द्रशेखर वेंकट रमन इनको करें शत शत नमन तिरुचिरापल्ली में जन्म लिया माता-पिता का नाम रौशन किया   बालपन से ही प्रवीण थे रमन विद्या और संगीत में अद्भुत …

ए पी जे अब्दुल कलाम…………………….देवेश दीक्षित

ए पी जे अब्दुल कलाम हम सब का इनको सलाम लेते हैं जब इनका नाम बढ़ जाता और भी अभिमान   जीवन में बहुत संघर्ष किया  तब राष्ट्रपति का …

रक्षा बंधन…………………………देवेश दीक्षित

बहना लेकर बैठी राखी कब भईया आएगा लगा के तिलक बांध के राखी वो मिठाई खाएगा उपहार मैं लूंगी उससे बड़ा, बच के न जा पायेगा बहना बैठी बाट …