Category: The Open Group

“मैं निशा हूं”

मैं निशा हूं सोचा कि आज कह ही दूं सबकुछ। निर्दोष हूं, अकेली हूं, प्यारी भी हूं सचमुच। मेरी तन्हाई को सिर्फ वहीं समझ सकता है- जिसने आविरक्त प्रेम …

“भारत का मीडिया”

कहते है जिसे खबरों कि चिडिया,नाम है उसका भारत का मीडिया,खबरों के भवंडर मे रहता ये सदा,ब्रेकिंग न्यूज से कभी न हो पाऐ ये जुदा |जनतंत्र का चौथा स्तंभ …

“कुछ दिनो की बात है” ……………..

कुछ दिनो की बात है,लाँकडाऊन को सफल बनाना है,कोरोना का खौफ बडा है,इसे तो हमे हराना है। कोरोना का माहोल गरम है,आम आदमी की हालत नरम है,ताली और थाली …