Category: सारांश सागर

जानिये मुखर्जी नगर में पुलिस व् टेम्पो चालक में झड़प का असली कारण !!

यूँ तो रोज नित्य कई घटनाये होती रहती है लेकिन मुखर्जी नगर के इलाके की घटना इसीलिए थोड़ी संवेदनशील है क्योंकि झड़प करने वाला व्यक्ति सिख समुदाय से है …

एक सामाजिक चिंतन – प्यास और भूख सबको लगती है !

 जैसा की लेख का विषय है – प्यास और भूख सबको लगती है ! उससे हम और आप समझ सकते है कि कैसा लगता होगा जब आपको भूख लगे …

एक सामाजिक चिंतन – आग उगलती दीवारें और दोष उप्पर वाले को !!

बहुत गर्मी हो रही है , आज हर कोई यही वाक्य बोले जा रहा है और ऊपर वाले पर व्यंग्य और मजाक बनाकर तसल्ली दे रहा है पर कभी …

बाहर का भोजन कितना हितकारी ?

नमस्कार पाठकों , जैसा कि आपने लेख के विषय को पढ़ा है उससे आप अंदाजा लगा सकते है कि बाहर का भोजन कितना हितकारी है और कितना नही ? …

आनंद विहार ( दिल्ली ) से गया और गया से भागलपुर दो लात मारके ट्रेन का रोमांचकारी सफर !!

जन्म लेने के पश्चात से ही एक आम व्यक्ति से अधिक यात्रा शायद जीवन रेखा में अंकित है तभी तो अनायास ही न चाहते हुये अनचाहे यात्राओं में अपनी …

ईश्वर सद्गुणों के संग्रह है, सद्गुण अपनाये बिना पूजा व्यर्थ है – जीवन दर्शन

ईश्वर सद्गुणों के संग्रह है ! संग्रह को अपनाया ही नही तो ईश्वर खुश नही होने वाले !! न घंटा बजाने से न कीर्तन करने से और न ही …

Saransh Sagar’s Positive Quotes | सारांश सागर के सुविचार | Positive Thoughts

संघर्ष ही सफलता की गाड़ी में गति देने का काम करता है ! अनुभव यही कहता है कि जीवन मे प्रत्येक घटना का अंत मे आत्मचिंतन करके सकारात्मक मंथन …

Download Chalisa Collection App In Hindi | डाउनलोड करे संपूर्ण चालीसा संग्रह एप्प | Gyansagar ( ज्ञानसागर )

 भागम भरे जीवन में पुस्तक को संजोग के रखना काफी मुश्किल हो गया है और उसी को ध्यान में रखते हुए हमने प्रभु कृपा से आराध्य देवी-देवताओं के चालीसा …

मैं अपने ब्लॉगस्पॉट वेबसाइट को और बेहतर कैसे बना सकता हूँ ?

सर्वप्रथम ये प्रश्न एक कौरियन मित्र प्रवीण मारुकोलू द्वारा क्योरा पर पूछा गया ! जिसको हिंदी में बताने का मेरा मन किया ! अब आते है मूल प्रश्न के उत्तर पर …

बच्चों व् माता-पिता के लिए स्वर्ग क्या है ??

बच्चों के लिये भगवान,संसार और स्वर्ग वो माता-पिता है जो अपने बच्चों के देख-भाल और पालन पोषण की कोई कमी नही रखते ! संसार के छोटे-बड़े,अच्छे-खराब सभी तरह के …

एक शिक्षाप्रद कहानी – बैकअप बनाकर रखिये

बेटे से काम लेने के आदि हो चुके पिता को तब चिंता सताने लगी जब देर तक सोने की आदत ने उनकी कमाई पर हमला बोल दिया !! क्योंकि …

ये शादी है य कोई व्यापारिक सौदा ??

मैं हैरान हूं और परेशान हूँ। बेटी नही है, न सगी बहन पर जब किसी के दुःख को प्रत्यक्ष देखने और सुनने का अवसर मिले तो पीड़ा एक समान …

एक प्रेरणादायक कहानी – क्लैश ऑफ़ क्लेन बना क्लेश की वजह !!

ट्रेन दोपहर ३ बजे की थी और कड़की सर्दी का मौसम था !! कोहरा होने के कारण ट्रेन रात 9 PM बजे की हो गयी पर ट्रेन पकड़ने से पहले एक …

महिलाओं की सुरक्षा का प्रश्न ??

नमस्कार मित्रोबीतो दिनों से जिस रफ्तार से देश में महिलाओ के खिलाफ अपराध बढ़े रहे है ! वो काफी चिंताजनक और दुर्भाग्यपूर्ण है !! और देश की राजधानी दिल्ली …

एक शिक्षाप्रद कहानी – आपने हमे भी इनवाईट किया है !!

ट्यूशन का टाइम हो गया था और इंटीग्रेशन करते करते बहुत तेज भूख भी लग रही थी !! सर को प्रणाम करके सबको राम राम करके ज्यों ही घर …

बेटी का हाथ किसके साथ ??

गाँव,देहात में अक्सर अधिक बेटी वाला परिवार मध्यम य गरीब वर्ग से सम्बंध रखता है !! उसके कई कारण हो सकते है पर मुख्यतः ये कारण तो हर समस्या …

बस यूं ही जगमगाते रहना

अक्सर और अधिकांश कई लोगों को रौशनी बहुत ही पसंद होती है और जब बात करे दिए कि तो वो बहुत ही सुंदर दिखती है बिल्कुल फूटरी आनंदी की …

सरकार भ्रष्ट नही भ्रष्टाचार के लिए ही सरकार है !!

फिल्म मदारी का ये डायलॉग आज के वर्तमान सरकार य पिछली जितनी भी सरकार हुयी उसमे अधिकांश के लिए ये डायलॉग उपयुक्त बैठता है क्योंकि साफ-सुथरे खादी वस्त्र पहनने …

गूगल पर सर्च कर लीजिये

विवाह उपरांत राकेश और रीता बहुत खुश थे क्योंकि दोनों को अपना मनपसन्द जीवनसाथी जो मिल गया था !! हंसी-ख़ुशी सब सही चल रहा था पर बेटी को विदा …

प्रद्युम्न मेरा नही पूरे देश का बेटा है !!

ये शब्द प्रद्युम्न के माँ ने कहा और इसे सुनने के बाद रोंगटे खड़े हो गये और मन भावुक हो गया ! आंसू छलक ही गये !! सोचकर भी …

दिल्ली मेट्रो की वर्तमान की दूर्दशा !!!

दिल्ली मेट्रो में सफर के दौरान आपको कई जगह विमल पान मसाला और अन्य गुटखा के प्रचार दिख जायेंगे !! मै ये सब नही खाता पर मै गुटखा खाने …

अनजाने में ही सही ईश्वर का हो रहा है नित्य-प्रतिदिन अपमान ! – अनुभव पर आधारित लेख

हम और आप ईश्वर की भक्ति अपनी श्रद्धा,नियम,कायदे के अनुसार करते तो है लेकिन ये नियम और श्रद्धा को पोषित कौन करता है इस पर कभी गौर नही करते …

माँ है वो मेरी !! – इस कविता रचना में मेरे और माँ के बीच के प्रेम व् परिस्थिति का विवरण है !

माँ है वो मेरी। मुझको जग में लाने वाली ममतामयी है माँ मेरी।कैसे करू मै उसकी सेवा ये समझ आता नहीं।अपने ममता के स्पर्श से जिसने किया मुझे बहुत …

ये कैसा प्यार – प्यार और सम्मान किसी समय,तारिक और परिस्थिति विशेष के मोहताज नही !!

आज स्कूल,कालेजो में बहुत अच्छा प्यार देखने को मिल रहा है ???? ! लड़का-लड़की कॉलेज के पास खोके के दुकान में सिगरेट,दारू और न जाने कौन सी नशीली पदार्थ का सेवन …