Category: रोशन सनगही

विदाई

पहले तो अपना कहा, फिर प्यार का सपना दिया, अब दर्द का चिराग क्यों जलाते हो और गम का दामन क्यों थमाते हो, पहले तो अपना कहा………. अश्क फिसलते …