Category: हितेन पाटीदार

गुज़ार दूं ये ज़िन्दगी तेरे एक हसीं खयाल से

गुज़ार दूं ये ज़िन्दगी तेरे एक हसीं खयाल से।रखें हैं मैंने कुछ ऐसे लम्हें संभाल के।Guzaar Doo Ye Zindagi Tere Ek Hansi Khayal Se.Rakhe Hai Maine Kuchh Aise Lamhe …

“एक सफ़र” – दुर्गेश मिश्रा

– एक सफ़र देखे मैंने इस सफर में दुनिया के अद्भुत नज़ारे, दूर बैठी शोर गुल से यमुना को माटी में मिलते | की देखा मैंने इस सफर में….. …