Category: अरूण कुमार झा ‘बिट्टू’

जंग जीत जाऐगे- अरूण कुमार झा बिट्टू

वक्त बीता है सभी ,ये भी बीत जाएगा ।फिर एक बार मेरा देश ,जंग जीत जाएगा ।आज खामोशी है, उदासी है, बेबसी है दर्रा-दर्रा ।फिर एक बार मुस्कुराना, लब …

गरीबी- अरूण कुमार झा

आज कल कुछ लोग थोङा दान करते है।ले कर सेल्फी गरीब की निज मान करते है।इससे तो अच्छा है साहब यू दान ना करो।गरीब की मजबूरी का अपमान ना …

करोना- अरूण कुमार झा बिट्टू

ओ प्रभू कुछ तो बता ,क्या खता हमसे हुईकब्र भी कम पङी ,लाशो की है ढेरी लगीडर से है कर्राहता, निराश जन जन है खङादेख मौत साथी की , …

अफसोस- अरूण कुमार झा बिट्टू

1-मत अफसोस कर ए दिल,मेरे न बहुत कमाने पेमै हू सफल अच्छे अच्छे चूकेदामन बेदाग बचाने मे2-ऐ दिल खुश रहा करकब तक कमिया गिनवाऐगाइस जीवन की शाम है आनीजाने …

गुजरे जमाने- अरूण कुमार झा बिट्टू

गुजरे जमाने सब भूल गए जालिम, पर वो कातिल निगाहे परेशान करती है। तनहाई मे जब कही बैठ जाता हू, तो तू पास है मेरे ये एहसास रहती है। …

जीने की चाहत- अरूण कुमार झा बिट्टू

जीने की तमन्ना है मेरी जब तक मेरा स्वाभिमान जिवित मै तब तक जीना चाहुगा हु समाज मे जब तक मान सहित जब अपनो मे प्रेम सुरक्षित हो आपस …

जिन्दगी – अरुण कुमार झा बिट्टू

जरूरी नहीं कि जिन्दगी बड़े आराम से जिया जाएखुशनुमा सुबेह खुशनुमा शाम से जिया जाए दुख तो आती हैं , आएंगी इस पर नहीं किसी का जोरपर नीबट जाएंगी …

देश जीतेगा =अरुण कुमार झा बिट्टू

देश जीता हैं देश जीतेगा।मोदी जी की सेना ही रेस जीतेगा।मोदी जी की सेना में जनता की भागीदारी हैं।उनको हैं जितना देश भक्तो की जिम्मेदारी हैं।राहुल राफेल गाता है …

ऐ मासूम दिल – अरुण कुमार झा बिट्टू

ऐ मासूम दिल तू जवान क्यों हुआ ।दुनिया की भिन्न बातो से पहचान क्यों हुआ ।पहचान तो ठीक था गलत नहीं है ज्ञान।ये ज्ञान तेरे जहण पे अशरदा क्यों …

बेदर्दी बदरी – अरुण कुमार झा बिट्टू

मैंने बेदर्दी बदरी से उम्मीद लगा कर रखी हैं ।देखो कब वो बरसती हैं । देखा तो मुझको करती हैं ।उसके नैना बेदर्दी हैं । बेदर्दी हैं उसके सारे …

अरुण कुमार झा बिट्टू की शायरी

१-आजमा कर देखो प्यार किसी और का हजूर।पर मेरी प्यार ना तुमसे भूली जाएगी।कुछ पल तो भटकोगे ,कोई और होगा खाश।आखिरकार मेरा प्यार तुमको खीच लाएगी।२-कब तक जियोगे यार …

उम्मीद – अरुण कुमार झा बिट्टू

उम्मीद ना छोड़े रे बंदे , उम्मीद न छोड़ेकल होगा सब कुछ ठीक तू ये यकीन ना तोरेआज बिगड़े हैं हालात तो क्या भूले हैं अपने आज तो क्या …

मुकाम – अरुण कुमार झा बिट्टू

बस जिंदगी में इतना मुकाम चाहता हूं।जो काम आए सबके वो काम चाहता हूं।अपने लिए तो जीते हैं सब इस जमीं पे औरोकेलिए अपना सुबेह शाम चाहता हूं।बस जिंदगी …

शहीद के. मनोज पाण्डे

प्रणाम करो इस धरती को, ये धरती बड़ी सौभागी हैं।ये मनोज पाण्डे की जननी हैं। ये उनके शोर्य की दर्शी हैं।वो कारगिल का रण यारो, दुश्मन शिखर पर चढ …

पाकिस्तान तेरा परमानेंट इलाज करेंगे

बहुत सहे वार अब आर पार करेंगेऐ पाकिस्तान तेरा परमानेंट इलाज करेगेकब तक तेरे संग शांन्ति वार्ता करेलातो के भूत कही बातो से मनेअबकी बार हौसला तेरा तार तार …

चुनाव- अरूण कुमार झा बिट्टू

चुनाव आ रहे हैं । सही नेता ही चुनना ।बाद मे ये नही केहना कीआम आदमी देश भक्ती कैसे करे । Оформить и получить экспресс займ на карту без …

विधानसभा – अरूण कुमार झा बिट्टू

खूब दिखा भाई शिष्टाचार सपा विधायक दल के।कागज के टुकड़े फैक रहे थे डेक्स पे उछल उछल के।कैसे रहती आप पिर पीछे , इसने किया कुछ बढ के।इनके पार्सद …

ऐ कैसा सीन हैं – अरूण कुमार झा बिट्टू

हाय पश्चिम बंगाल तेरा आज ऐ कैसा सीन हैकानून बचाने वाला ही चोरो संग आसीन हैंअब क्या इस देश में जाच भी नही होगीपूछ ताछ करने वालो की हवालात …

अरूण कुमार बिट्टू – शायरी

१मै निकला तेरी गली से , एक झलक पाने के लिएजो जुड़ा था रिस्ता उसे निभाने के लिएपर तू निकली बेरहम ,टूटी मेरी वहमतूने लगा दी सौ नम्बर पुलिस …