Tag: song

वजह ।

प्यार करने की भी, कोई वजह होती है क्या ?प्यार तो अमर, रूह का अटूट हिस्सा होता है…!मार्कण्ड दवे । दिनांकः १९ नवम्बर २०१६. Оформить и получить экспресс займ …

तजुर्बा ।

ज़िंदगी को ही, तय करने दे उसे क्या चाहिए,फिर, तजुर्बा भी तो, काम आना चाहिए किसी दिन…!मार्कण्ड दवे । दिनांकः १९ नवम्बर २०१६. Оформить и получить экспресс займ на …

अक्स ।

रूह और तुम, दोनों अक्स हो मेरे,बता किस से, जुदा होने पर मर जाऊँ…!अक्स = प्रतिबिम्ब;मार्कण्ड दवे । दिनांकः १९ नवम्बर २०१६. Оформить и получить экспресс займ на карту …

छलावा ।

छलावा है बारबार, चोला बदलना उसका,दुःख ही तो आता है, पहन के चोला सुख का…!छलावा = प्रपंचः चोला = पहनावा;मार्कण्ड दवे । दिनांकः १४ जून २०१६. Оформить и получить …

सिरफिरे जज़बात ।

सिरफिरे जज़बातों को, सिर पर बिठा कर क्या मिला ?ना मिला प्यार , न यार, न रिश्ता, ना ज़रा सा क़रार…!सिरफिरे = सनकी;मार्कण्ड दवे । दिनांकः १४ जून २०१६. …

ख़्वाब ।

तूने कैसी नज़र से देखा, आकर के मेरे ख़्वाब में?तेरे मुताल्लिक, सारे ख़्वाब, जल गए मेरे ख़्वाब में…!मुताल्लिक = संबंधित;मार्कण्ड दवे । दिनांकः १६ नवम्बर २०१६. Оформить и получить …

चांदनी रात ।

चांदनी के बदन से, रौशनी चुरा के, ओढ़ लेता हूँ,जब तुम्हारी याद, चांदनी रातों में, सताती है मुझे..!मार्कण्ड दवे । दिनांकः २८ जुलाई २०१६. Оформить и получить экспресс займ …

भरोसा ।

शायद, अपनी काबिलियत पर, अब उसे भरोसा नहीं रहा,अहसास-जज़बात की रगों को, काटने पर तूला है दिल..!काबिलियत = हुनर; अहसास = अनुभव; जज़बात = मनोभाव; रग = नस,बुनियाद; तूलना …

साथ ।

बुरे वक़्त में, साथ दिया था जिन-जिन का, हर वक़्त मैंने,कह कर, आज धतकार दिया, सब ने, `हम तुम्हें जानते नहीं..!`धतकारना = अपमानित करना;मार्कण्ड दवे । दिनांकः११ नवम्बर २०१६. …

यादें ।

आते-जाते दिन-रात से चंद लम्हें चुरा कर,जिंदा यादों को आज फिर दफ़ना दिया मैंने…!मार्कण्ड दवे । दिनांकः २० सप्टेम्बर २०१६. Оформить и получить экспресс займ на карту без отказа …

लुत्फ़ ।

कभी हम से भी तो,पंगा लिया कर ज़ालिम,बड़ा लुत्फ़ होता है, रुठे को मनाने में…!पंगा = तकरार; लुत्फ़ = आनंद;मार्कण्ड दवे । दिनांकः २० अगस्त २०१६. Оформить и получить …

तहज़ीब ।

तहज़ीब की आसान राहों में, काँटे बिखेर के चल दिए,भरी महफ़िल में इज्ज़्त को तार-तार कर के चल दिए..!मार्कण्ड दवे । दिनांकः २० ओक्टॉबर २०१६. Оформить и получить экспресс …

आसमान ।

आसमाँ भी गिर गया, ख़ुद की नज़रों से नीचे,जब भी देखा, इन्सान को तिल-तिल के मरते ।नज़रों से गिरना = बहुत शर्मिंदा होना; तिल-तिल के = घुट-घुट के-बेबसी में;मार्कण्ड …

नमक ।

जलनेवाले हँसने लगे हैं, इन बेस्वाद ज़ख़्मों पर,हो सके तो फिर से तू आजा, नमक छिड़कने ज़ख़्मों पर…!मार्कण्ड दवे । दिनांकः २० अगस्त २०१६. Оформить и получить экспресс займ …

डगर प्यार की ।

आगाह करना चाहिए, मुसीबतों से पहले ही,हम तो समझे थे, आसाँ होगी डगर प्यार की..!मार्कण्ड दवे । दिनांकः २० अगस्त २०१६. Оформить и получить экспресс займ на карту без …

इंतज़ार ।

उसकी बातों से लगता है, बहुत थक चुका है वो,अय इंतज़ार, तुझे बेसब्र होने कि ज़रुरत न थीं..!बेसब्र = धैर्यहीन;मार्कण्ड दवे । दिनांकः २० ओक्टॉबर २०१६. Оформить и получить …

बाद मेरे ।

इतरा मत इतना ख़ुद से, बाद मेरे क्या होगा,ज़मीनो – आसमाँ भी, बाद तेरे ये जहाँ होगा…!इतराना = घमंड करना;मार्कण्ड दवे । दिनांकः २० अगस्त २०१६. Оформить и получить …

पड़ोस ।

बदनाम हुई मुहब्बत, पड़ोस के दिलों में बराबर ,बरबाद होगा पाक, इक न इक दिन बेइज़्ज़त हो कर..!पाक = पाकिस्तान;मार्कण्ड दवे । दिनांकः २० ओक्टॉबर २०१६. Оформить и получить …

ख़ूनी चेहरे ।

सहसा हर तरफ, क्यों नज़र आने लगे बेख़ौफ ख़ूनी चेहरे..!या फिर, छाया है मज़हबी ताम लाल रंग, मेरी आंखों में ?बेख़ौफ = भयहीन; ताम = खूंख़ार;मार्कण्ड दवे । दिनांकः …