Tag: शायरी

अगर कीचड़ में खिला हूँ तो क्या है

दो बातें तो करलो, मन को परखलो, मन शुद्ध, तन मैला तो क्या है, कमल हूँ कमल सा दिल है मेरा, अगर कीचड़ में खिला हूँ तो क्या है । आसमां को मैं …

चमक कम न हो – डी के निवातिया

चमक कम न हो *** चाँद से रोशन चेहरे की चमक कम न हो, झील सी गहरी ये आँखे कभी नम न हो, बहारों की फिज़ाओ में दमकता ये …

कुदरत से क्या लड़ूं – शिशिर मधुकर

दिल की ये आरजू है कोई संग में चले मेरे बन के स्वप्न अंखियों में कोई हरदम पले मेरे देखो मैं ढूंढता हूं किसी बिछड़ी सी रूह को कब …

शेर – डी के निवातिया

ख्याल *** बड़ी शिद्दत से मैं  ये काम  कर रहा हूँ ,जीने की चाहत में हर रोज़ मर रहा हूँ !! Оформить и получить экспресс займ на карту без …

खुदा की रहमत – सर्वजीत सिंह

खुदा की रहमतना कोई धर्म होता है ना कोई जात होती है महोब्बत में दोस्तों बस ऐसी ही बात होती है दिल से दिल मिल जायें गर मोहब्बत में …

मोहब्बत का मारा – सर्वजीत सिंह

मोहब्बत का मारामोहब्बत को तेरी हमने नकारा नहीपर तेरी बेरूखी भी हमें गवारा नहीं सुबह शाम किया है बस तुझे सजदा फिर भी लब से नाम तेरा पुकारा नहीं …

मेरी कहानी मेरी जुबानी भाग-2 (POEM No. 21) CHANDAN RATHORE

कुछ साल और निकले में पढता रहा सब मुझे पढ़ाते रहेआ गया वो दिन जिस दिन होना था माँ से दूरसब छोड़ गये अकेले कोई नही था मेरे पासअकेले …

Aaj udas hu me (आज उदास हु में) POEM No. 11 (Chandan Rathore)

POEM NO. 11————–आज उदास हु में———————आज मन्न उदास हे पता नही क्यों ये मन्न उदास हेक्या में दोसी हु जो में उनकी केयर करता हुया वो दोसी हे जो …

प्यार की दिवाली – मेरी शायरी ……. बस तेरे लिए

प्यार की दिवाली दीपों का त्योहार है दिवालीहंसी खुशी और प्यार है दिवाली ……………….मोहब्बत का रंग जब चढ़े किसी परफिर दिलभर का इज़हार है दिवाली …………………….शायर: सर्वजीत सिंह [email protected] …

राज़ – मेरी शायरी……. बस तेरे लिए

राज़दिल का हर राज़ मैं आज तुमको बता दूंगा …………………….पर शर्त ये है के तुम भी अपना दिल खोल कर रख दो ………………………. शायर : सर्वजीत सिंह [email protected] Оформить …

मंज़िल – मेरी शायरी……. बस तेरे लिए

मंज़िलकई बार घबरा जाता है ये दिल देख कर ज़िन्दगी की मुश्किलें ……………………पर कभी मैं टूटा नहीं हौसला छोड़ा नहीं क्योंकि लगता है के मंज़िल बहुत करीब है …………………. …

अश्क़ – मेरी शायरी ……. बस तेरे लिए

अश्क़अश्क़ बहुत बहाये मैंने तेरी मोहब्बत में ………………पर मुद्दत के बाद जाना के तू पत्थर का ईक बुत है ……………………..!!!शायर : सर्वजीत सिंह[email protected] Оформить и получить экспресс займ на …

ठेस — डी के निवातिया

ठेस ◊♦◊♦◊ जिसको जितना चाहा उससे उतना दूर हो गये जब-जब किया हौंसला तब-तब मज़बूर हो गये उनकी नज़रो ने हमें पत्थर से शीशा बना डाला    लगी क्या …

गलतफहमी – मेरी शायरी……. बस तेरे लिए

गलतफहमीदिल की ये तमन्ना थी कि हमसफ़र मिले कोई अपने जैसे मिज़ाज का मिल तो गया लेकिन अब पछता रहा हूँ ये सोच सोच कर कि कितनी बड़ी गलतफहमी …

ठोकर – मेरी शायरी……. बस तेरे लिए

ठोकरठोकर ना मारो मुझे रास्ते का पत्थर समझ कर …………………अगर किस्मत ने उठा के मंदिर में रख दिया तो मैं पूजा जाऊँगा ……………………………………..शायर : सर्वजीत सिंह[email protected] Оформить и получить …

दीप जलाएंगे

Оформить и получить экспресс займ на карту без отказа на любые нужды в день обращения. Взять потребительский кредит онлайн на выгодных условиях в в банке. Получить кредит наличными по …

परवाना

Оформить и получить экспресс займ на карту без отказа на любые нужды в день обращения. Взять потребительский кредит онлайн на выгодных условиях в в банке. Получить кредит наличными по …

चिड़िया

शाम बढ़ती जा रही थीबेचैनी उमड़ती जा रही थीशाख पर बैठी अकेलीदूर नजरों को फिरातीकुछ नजर आता नहीँफिर भी फिरातीचीं चीं करती मीत को अपने बुलातीपंख अपने फड़फड़ातीबाट में …

ग़म ज़दा – मेरी शायरी……. बस तेरे लिए

ग़म ज़दा कोई आवाज़ ना दो मुझको …………………अब मुझे कुछ सुनाई ही नहीं देता क्योंकि दिल के टूटने के बाद ……………………. ग़म ज़दा हुआ पड़ा हूँ मैशायर : सर्वजीत …

झंकार – मेरी शायरी……. बस तेरे लिए

झंकारदिल धड़कने लगता है बड़ी जोर से सुनके तेरी पायल की झंकार ………………ज़रा आहिस्ता आहिस्ता चला करो कुछ वक़्त तो मिले बेकरार दिल को संभालने का ……………… शायर : …

दस्तक – मेरी शायरी……. बस तेरे लिए

दस्तकसीने में उठा है इक पुराना दर्द आज फिर से …………………लगता है के दिल के दरवाजे पे मोहब्बत ने फिर से दस्तक दी है ……………….. शायर : सर्वजीत सिंह …