Tag: kavita

जीवन साथी

मेरी अनकही अमानत, मेरी इकलौती इबादत,मेरी ज़रूरत, तु ही तो है मेरी ज़िंदगी,ज़ख़्मों का मरहम, मेरा नादान बचपन,मेरी हँसी, तु ही तो है मेरी अमादगी । मेरी पहली उम्मीद, मेरा …

हूँ मज़दूर मैं भारत का

घर जाने की कीमत अपनीमैं लाशों से चुकाता हूँहूँ मज़दूर मैं भारत काअपने घर को जाता हूं।दो रोटी की भूख को अपनीमैं गमछे से दबाता हूँबिन चप्पल ओर भूखा …

रिश्तें – डी के निवातिया !!

  रिश्ते पुष्पों से महकते है कभी, कांटो से चुभते है, सरिता से बहते है, कभी, सागर से ठहरते है, बादल से बरसते है, कभी, बिजली से गरजते है, …

जगदीश्वर श्री राम

वह जगदीश्वर श्री राम !जो युग युग में शास्वत हैजो सब सांसों में स्थित हैजो परब्रह्म में प्रमाणित हैजिससे ये जगत आनंदित हैहँसता होगा वह भी हमइंसानो की फितरत …

Mrat Kaaya Ka Rodan (मृत काया का रोदन) POEM NO. 230 (Chandan Rathore)

POEM NO . 230————मृत काया का रोदन————मृत काया के लिए हुआ आज फिर करुणा मय रोदन |छोटे छोटे बच्चों की आशाओं का हुआ शोषण ||रूठ गए जग छोड़ गए …

Aaj udas hu me (आज उदास हु में) POEM No. 11 (Chandan Rathore)

POEM NO. 11————–आज उदास हु में———————आज मन्न उदास हे पता नही क्यों ये मन्न उदास हेक्या में दोसी हु जो में उनकी केयर करता हुया वो दोसी हे जो …

धैर्य का महत्व – अनु महेश्वरी

बेवजह किसी बात को तूल न देकर,मैंने ज़िन्दगी में खुश रहना सीख लिया|दिखावा को जीवन से दूर रख कर,मैंने ज़िन्दगी में सादगी को अपना लिया|जो मिला उसे हसते हुए …

संयुक्त व मज़बूत भारत – अनु महेश्वरी

बच्चों पे ज़्यादा सख्ती,उन्हें झूठ बोलना सिखाती है,उनपे ज्यादा नरमी भी,राह से उन्हें भटका सकती है,जीवन में संयम और अनुशासन के साथ,चरित्रवान वो बने, बस इतना जरुरी है|शिक्षा, सभी …

ऑक्सीजन – अनु महेश्वरी

जब तक है स्वस्थ,निःशुल्क मिलती,हवाओं से, फायदा उठा,प्राणायाम रोज किया करे|हो गए बीमार अगर,दवाओं के साथ, तब,ऑक्सीजन की भी,कीमत लग सकती|जब रोग जात-पात,या धर्म नहीं देखता,फिर हम इंसान, क्यों,योग …

लोग क्या कहेगें – अनु महेश्वरी

बड़ी ही उलझन है,हम सबकी ज़िन्दगी में,”लोग क्या कहेंगे”,यह बात एक न एक बार,हम सबने, अपने बड़ो से,सुनी ज़रूर होगी|कौन है यह लोग?और हमसे नाता क्या है?और क्यों ये …

अनमोल है बेटियां…-पियुष राज

अनमोल है बेटियांअगर बेटे हीरा है तोहीरे की खान है बेटियांअपने घर-गांव-देश कीपहचान है बेटियांअगर बेटे सूरज है तोगंगा की अविरल धारा है बेटियांअगर बेटे आसमान है तोउस आसमान …

बच्चे चाचा उन्हें बुलाते

इलाहाबाद में जन्म हुआ था थे कश्मीरी ब्राम्हण परिवार पिता मोतीलाल थे उनके स्वरुप रानी से मिला संस्कार.समय की गति के साथ-साथबने यशस्वी और गुणवान स्वाधीनता संग्राम के योद्धा …