Tag: kavi piyush raj

राख…(पियुष राज)

राखधन दौलत के अभिमान मेंइंसान हो जाता है मगरूरअपने आप को बड़ा समझकरअपनो से ही हो जाता है दूरमरने के बाद धन-दौलतसब कुछ हो जाता है खाकअंत मे जिंदगी …

संकल्प-पियुष राज

संकल्प देश को आगे बढ़ाने का देश के लिए कुछ कर जाने का आओ मिलकर संकल्प करें भारत को साक्षर बनाना है हर बच्चे को स्कूल पहुँचाना है बेटा-बेटी …