Tag: #indianwriters #domesticviolence #feminism

चलो ठिकाना लगाते है

चलो ठिकाना लगाते है लोग इसको मरे हुए लोगों को मानते हक़ीक़त ये हैं क़ि कोई भी चीज़ को अपनी जगह पर रखना भी ठिकाना लगना बोलते है 🤔रौशनी …

बेशर्म

.कौन हो तुम मुझपे सवाल उठाने वाले?कौन हो तुम मुझे बेशरम बुलाने वाले?जन्म दिया है क्या तुमने मुझे??नहीं!पर हाँ…शायद तुम वो हो जिसने मुझे दुनिया में रहने का सलीका …