Tag: hindisahitya

Ab Tu Jeet

अब तू जीत ,छोड़ दे हारएक दो नहीं ,चार से मारअब इंतज़ार कर न यारकर कुछ ऐसा की हिल जाए संसारद्वारा – मोहित सिंह चाहर ‘हित’ Оформить и получить …

मेरे गुरु–पियुष राज

मेरे गुरु हाथ पकड़कर जिसने मुझे पढ़ना-लिखना सिखाया भाषा-अक्षर का बोध जिसने मुझे कराया दुनिया के साथ कदम मिलाकर जिसने चलना सिखाया जिसने की मेरी जिन्दगी शुरू वो है …