Tag: Corona par kavita

रुको, ठहरो ,बाहर न जाओ,

रुको, ठहरो ,बाहर न जाओ,बाहर में एक शैतान बैठा है।पता नहीं वह किस वेशभूषा में बैठा है?वह भूखा है ,इंसानों को खाने की आस में बैठा है।पता नहीं वह …