Tag: शीशा

मै तुझमें हुं पर तू मुझमे नहीं।

मै तुझमें हूं पर तुम मुझमे नहीं तुम जहां कहीं में भी वहीं मेरा तुझसे आगे कोई मोड़ नहीं मेरा ओर कोई जोड़ नहीं तेरा मिलना क्यों नहीं है …