Tag: शार्दूलविक्रीडित छंद

शार्दूलविक्रीडित छंद “हिन्दी यशोगान”

शार्दूलविक्रीडित छंद “हिन्दी यशोगान” हिन्दी भारत देश के गगन में, राकेश सी राजती। भाषा संस्कृत दिव्य हस्त इस पे, राखे सदा साजती।। सारे प्रांत रखे कई विविधता, देती उन्हे एकता। हिन्दी से पहचान है जगत में, देवें इसे भव्यता।। …