Tag: विवेचना प्रेरणापूर्वक कविता

बोलती मूरत का करिश्मा दिखाएंगे ।

हज़ारो बातें दफना कर आज पर जिन्दगी की चादर पहना कर चलो काटते हैं वो सफ़र तैखने मे रखेंगे तेरी भी ख़बर बोलती मूरत का करिश्मा हम दिखाएंगे दुनियां …