Tag: मेरा- मेरा सब कहे

मेरा- मेरा सब कहे – डी. के. निवातिया

कुण्डलिया ******************* मेरा- मेरा सब कहे , मैं  में  खोया देश !दोष राखे सब दुसरे ,  लूटे भर के  भेष !!लूटे भर के  भेष, समझ कोई  ना पाये !भारी …