Tag: मदन छंद

रूपमाला छंद “राम-महिमा”

रूपमाला छंद “राम-महिमा” राम की महिमा निराली, राख मन में ठान। अन्य रस का स्वाद फीका, भक्ति रस की खान। जागती यदि भक्ति मन में, कृपा बरसी जान। नाम …