Tag: भारतीय संस्कृति नववर्ष

मंगल नववर्ष मनाएँगे

गाँव-गाँव में शहर-शहर में,कैसी छायी उजियाली है;खेतों में अब नव अंकुर , नव बूंद सेछायेगी हरियाली है |बहुत कुहासा बीत चुकाअंतर्मन का ठिठोर मिटा,नवचेतन में नवबहार-बसंत,प्रकृति का सुंदर अभिलेखा …