Tag: भाईचारा

कविता_ “अपनों से पहचान बढ़ाओ”

*अपनों से पहचान बढ़ाओ*दूरियां सारी अब मिटाओ ,अपनों से पहचान बढ़ाओ ;सिवईयां ईद की, इस बारी उनको ख़िलाओ ,अम्मी के हाथों का, हर पकवान चखाओं ;अपनों से पहचान बढ़ाओ …