Tag: भजन

कान्हा कान्हा पुकारे ये दिल – अनु महेश्वरी 

कान्हा कान्हा पुकारे ये दिल रे,अपने भक्तो से आकर मिल ले।रात दिन लगी तेरी ही धुन रे,भक्तो की पुकार अब सुन ले,तुम दर्श आकर दिखा जाओ,सभी के गम को …

सांवरे तेरे प्यार में……………….दीवानी हो गयी |भजन| “मनोज कुमार”

सांवरे तेरे प्यार में, गिरधर बातों के जाल में राधा तेरी रानी, दीवानी हो गयी, दीवानी हो गयी कानन कुंडल की ये, मोहिनी मूरत की ये मोहन तेरी रानी, …

रटले रटले………….. भोले बाबा|भजन| “मनोज कुमार”

रटले रटले नाम मनवा, शिव शंकर भोले बाबाकरलो मन से शिव की भक्ति, शिव सुधा की हैं धारा रटले रटले नाम मनवा, शिव शंकर भोले बाबारटले रटले………………………………………………. भोले बाबाडोर …

८०. बस इतनी तमन्ना है………….. गले लगा जाओ |भजन| “मनोज कुमार”

बस इतनी तमन्ना है, गौरा के साथ में आ जाओबस इतनी तमन्ना है, नन्दी के साथ में आ जाओआ जाओ शिव आ जाओ, कैलाश के वासी आ जाओकष्ट करो …

७९. हमें भी अपना लो……….. भस्मी रमने वाले |भजन| “मनोज कुमार”

हमें भी अपना लो मेरे, नाथ डमरू वाले आ जाओ कैलाश से, ओ भस्मी रमने वाले हमें भी अपना लो……………………………….. भस्मी रमने वालेतुम जीवन देने वाले, दया के शिव …

५८. भोले आ जाओ भोले आ जाओ.……|भजन| “मनोज कुमार”

भोले आ जाओ भोले आ जाओ…………………….४भोले कर दो बेड़ा पार खुशियों की करो बरसात ……………….२ हम बालक तेरे है शम्भूहमपे दया करो नटराज………………….२मन मंदिर में तुम आ जाओमेरी खाली …

३९. राम नाम इक नाम..………………|भजन| “मनोज कुमार”

राम नाम इक नाम है ऐसा तुमको पार लगायेगा यही नाम है ऐसा इक दिन भला तेरा कर जायेगा साथ तुम्हारे जायेगा भला तेरा कर जायेगाराम नाम इक नाम…………………………………. …

३६. भोले तेरा रूप ……………..|भजन| “मनोज कुमार”

भोले तेरा रूप अनूप हमको लगता है प्यारापरम् पिता परमेश्वर भोला हमको लगता है प्याराशिव शंकर डमरूवाला लगता है बड़ा प्याराभोले तेरा रूप ……………………………..है बड़ा प्याराभक्ति प्रेम स्नेह ज्ञान …

३५. श्री राम प्रभु के चरणों में ………….|भजन| “मनोज कुमार”

श्री राम प्रभु के चरणों में गुणगान मैं करने आया हूँ प्रभु की भक्ति करने को मैं गीत उन्हीं के गाया हूँश्री राम प्रभु………………………………………….के गाया हूँसुबह शाम में प्रभु …

जग में तुझ सी माँ ना होगी

मैं चंचल मैं पापी भोगीजग  में तुझ सी माँ ना होगी ।दर्शन बिन रोती हैं अंखियापूरी कब अभिलाषा होगी ॥ मन्त्र न  जानूं , यन्त्र न जानूं,ध्यान न जानूं, तन्त्र …