Tag: धुन

धुन – डी के निवातिया

धुन @ अब जाए भी तो कहाँ जाए, बचकर बुल और बुलबुल !हर तरफ जाल बिछाया है, आखेटक ने ख़ौफ़ के तार चुन चुन !राह अब नज़र कोई आती …