Tag: छुप-छुप के

छुप-छुप के – डी के निवातिया

छुप-छुप के ***ये जो छुप-छुप के नज़रे मिलाई जा रही है,जरूर कोई नई साज़िश रचाई जा रही है !!ये इश्क का मसला भी सियासत सा लगे है,मिलकर गले प्रेम …