Tag: छंद – सरसी

गुरू चरणन में….सी. एम्. शर्मा (बब्बू)….

II  छंद – सरसी  IIघूम  फिराया  मैं  जग सारा,  ना मिटा अंधियार   Iलीनी शरण गुरू की जब मैं, हुआ तमस से पार IIमैं  गुर का,  हुआ गुरु मेरा, …