Tag: ख्यालों के दरमियाँ

ख्यालों के दरमियाँ – डी के निवातिया

  ख्यालों के दरमियाँ *** टूटे-फूटे शब्दों के खंगर जोड़-जोड़ करज़ज़्बातो के पत्थरों को तोड़-तोड़ करबनाया था एक मकाँ ख्यालों के दरमियाँगुम गए उसमे सपनो की चादर ओढ़कर !! …