Tag: कविता क़ब्र की

क़ब्र की मिट्टी

क़ब्र की मिट्टीमौत का मातम तोछाया है इस कदर कीख़ुशी को पनाह ना मिल पाएआस-पास तो ढूंढते हैंहम दर्द मेरेकही क़ब्र की मिट्टी ना उठा ले जायेउनकी आँखों की …