Tag: उपजाति छंद

इंद्रवज्रा छंद “शिवेंद्रवज्रा स्तुति”

इंद्रवज्रा छंद / उपेन्द्रवज्रा छंद “शिवेंद्रवज्रा स्तुति” परहित कर विषपान, महादेव जग के बने। सुर नर मुनि गा गान, चरण वंदना नित करें।। माथ नवा जयकार, मधुर स्तोत्र गा …