Tag: आरक्षण पर कविता

आग (पियुष राज ‘पारस’)

मेरी नयी कविता कुछ महत्वपूर्ण मुद्दों पर ,आपको कैसा लगा जरूर बताएं ,आपकी प्रतिक्रिया के आशा करता हूं 🙏🏻🙏🏻आगज्ञान का कोई मोल नहींयहाँ सुर समाया है काग मेंप्रतिभा झुलस …