Tag: अफ़सोस न कर

अफ़सोस न कर – डी के निवातिया

अफ़सोस न कर *** मेरे वतन के हिस्से ये सौगात हर बार मिली है !कभी गूंगो की कभी बहरो की सरकार मिली है !! किसी में हुनर सुनने का, …