Tag: अर्धांग्नी को समर्पित

हे मेरी प्राण प्रिये – डी के निवातिया

शादी की सालगिरह के विशेष अवसर पर प्राण प्रिय अर्धांग्नी को समर्पित ह्रदय के भावो को शब्द माला में गूंथकर काव्य रूप में संजोने का एक प्रयास: ___ हे …