Author: वेद प्रकाश राय

शून्य

मैं शून्य हूं मुझे अपने पीछे रखना,क्योंकि आपका कीमत बढ़ाना ही मेरा फ़र्ज़ है। Оформить и получить экспресс займ на карту без отказа на любые нужды в день обращения. …

आपकी आंखें

सुकून की तलाश में आपकी आँखों में झाँका था,किसे पता था कम्बखत दिल इन आंखो पर आ जाएगा। Оформить и получить экспресс займ на карту без отказа на любые нужды …

दिवानी

अब तो मौत भी मेरी इस कदरदिवानी हो गई हैं,जिसके आबरु को ढकने के लिएकफ़न लिए चलता हूँ।।।।। Оформить и получить экспресс займ на карту без отказа на любые …

॥॥चम्बल और राजनीति॥॥

कभी चम्बल के बीहड़ो के सरताज हुआ करते थे डाकू मानसिंह 1939 से 1955 तक एकछत्र राज्य किया !!! एक बार आगरा में डकैती करने गए सेठ को पहले …

फेसबुकियां बेटा

सुरेश के पिताजी बीमार पड़ गये, उन्हें आनन-फानन में नज़दीक के अस्पताल में भर्ती करवाना पड़ा। अस्पताल पहुँचते ही सुरेश ने अस्पताल के बेड पर उनकी फोटो खींची और …

बदला – बेटे का

नींद की गोलीयों की आदी हो चुकी बूढ़ी दादी गोली के लिए जिद कर रही थी, लेकिन पोते की नई ब्याह कर आई डॉक्टर बहु उनको नींद की गोली …

अबला

चरित्रहीन किसने बनाया? और कौन है जिसने बाध्य किया बेहया बनने को । शायद ! अकेली मैं जिम्मेदार नहीं । फिर क्यों मरते दम तक धोती रहूँ अपने चरित्र …

बता न?

शोर मचाकर नहीं चुपके से आना ए चांद मेरे मुंडेरे पर पूछूंगा तेरा धर्म। खुशियाँ बांटते हो ईद में कौमुदी में अमृत की बरसात और करवा चौथ पर तोडवाते …

।।अविलम्ब सम्पर्क करें।।

एक जरूरी अनुरोध.. मेरे मित्र समान बड़े भाई प्रो. धीरेन्द्र राय जो बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय में मासकम्युनिकेशन विभाग में प्रोफेसर है..अभी उनके पिताजी अस्वस्थ है, और उनको अविलम्ब AB- …

आज़ादी के 69 सालों बाद भी 1.83 करोड़ हिन्दुस्तानी गुलामी की ज़ंजीरों में जकड़े हुए हैं

विश्व का सबसे लोकतांत्रिक देश का नाम हिन्दुस्तान है. यह हमारा देश भी है, जिसे हम प्यार से ‘भारत मां’ कहते हैं. लेकिन दुख की बात ये है कि …

।।वन्दे मातरम्।।

॥भारतीय सेना जिंदाबाद॥ कैसी ये सरकार चलाई कैसी ज़िम्मेदारी है? मोदी भी मनमोहन निकले मौन निरंतर जारी है राष्ट्रवाद के प्रखर सूर्य पर ग्रहण लगा है वोटों का नहीं …