Author: Sonika Mishra

मुझे कुछ दिनों की, मोहलत तो दे दो!

मुझे कुछ दिनों की, मोहलत तो दे दो!तुम्हारी गली में, यूं न भटका करुँगी!!यादों में तेरी खुद को, सताने तो दो!तुझसे लिपटकर, यूं न रोया करुँगी!!अभी तो यहाँ पर, …

क्या सच में अब तुमको प्यार नहीं है

माना कि वो लम्हा साथ नहीं है!हम तो है पर वो बरसात नहीं है!!हमसफ़र भी हो मेरे, पास भी हो!पर फिर भी हांथो में हांथ नहीं है!!अच्छा होता अगर …