Author: shivam verma

ग़म से नहीं मरता

भरी महफिल में मैं तुझको यू रुस्वा क्यों नहीं करता,जो तूने गम दिए हैं उनको साझा क्यों नहीं करता,यह मोहब्बत है कोई खेल नहीं गुड्डू गुड़ियों का,अगर तुम समझ …

खत तो तूने भेज दिया

खत तो तूने भेज दिया सवाल तुझसे क्या पूछूं।दिल तो धड़कना भूल गया जवाब तुझ को क्या भेजूं।।गम के बादल छा गए आंसुओं का समंदर टूट पड़ा।दिल बेचैन हो …

जो करिये ही न कोशिश

Kunwar Shivam Vermaजो करिये ही न कोशिश,तो सवाल कहा हल होगा।जो बोया बीज आराम का,तो सफलता का फल कहा पाओगे।।जो साहस छोड़ मैदान से भागोगे,तो विजय कहा पाओगे।जो डाटे …

देखो एक सच्चा इंसान मिल गया अब जाकर देश को सही प्रधान मिल गया

 देखो एक सच्चा इंसान मिल गयाअब जाकर देश को सही प्रधान मिल गयाजो बैठे रहते थे चुपचापआवाज उठाने वाला राम मिल गयाभ्रष्टाचार का अब अंत होगागरीबों का भाग्य बदलने …