Author: Kalambaz Mishra

बेहतर है…..

धारा 370 के ऐतिहासिक निर्णय पर ,लद्धाख के प्रतिनिधि के भाषण के विचारों मे बांधने का प्रयत्न किया है, उस अनजान कोलाहल से, परिचत सन्नाटा बेहतर है। गीदड़ की …