Author: sarvesh singh sameer

आज राखी है!

आज राखी हैराखी बांधना अभी बाकि हैकैसे बाँधू ,खुद से बाँधने के लिये मजबूर  हूँतू वहां है और मै इतना दूर हूँ!कुछ यादें तेरी पलकों को मेरीनम किये जा …

प्यार कितना है तुमसे……

प्यार कितना है तुमसे……………… प्यार कितना है तुमसे न पूछा करो , इसका उत्तर कभी भी न दे पाउँगा … तुम पंखुड़ी हो कली की तो डाली हूँ मै, …

मै तेरे पास ही रहता हूँ|

रोज सुबह उठके जब मै अपने सपनो से जगता हूँ , तेरी बातो को गीत बनाके गुनगुनाता रहता हूँ, ऑफिस में मै तेरी याद में काम सारे निपटाता हूँ, …