Author: rsangahi

जिंदगी कितनी प्यारी है

फूलों की जिंदगी कितनी प्यारी है जो की खिलते हैं महकते हैं और महकाते हैं अद्भुत इनकी क्यारी है जिन पर ये फूल लेह-लहाते हैं कुछ तो ईश्वर के …

विदाई

पहले तो अपना कहा, फिर प्यार का सपना दिया, अब दर्द का चिराग क्यों जलाते हो और गम का दामन क्यों थमाते हो, पहले तो अपना कहा………. अश्क फिसलते …