Author: Ram Gopal Sankhla

बच्चन को नमन

जिंदगी को जिंदादिली से जीना,निराशा के तम में आशा का उजाला।श्री बच्चन की एक एक रचना,मिलकर बनती है जीवन काव्यमाला।।हरिवंश जी का व्यक्तित्व कृतित्व,जीवन की चलती फिरती पाठशाला।क्या भूलूं …

मधुर अनुराग

राह एक के बनकर हमराही।सीखा रहना सदैव उत्साही।।मन वचन कर्म से बने मीत।ताकत हमारी बनी यह प्रीत।।गोविन्द कृपा से होती नहीं रार।दे दिया दाता ने सुखी संसार।।पावन परिणय मधुर …

सपना सच्चा हो जाए

ना कोई यज्ञ, ना ही कोई यजमान मिलेना खाने को मिष्ठान, ना रूखे गाल खिलेअब यह न्योते को व्याकुल ब्राह्मण जगेगादेश छोड़ जा कोरोना तुझे शाप लगेगाईश्वर करे यह …

…..वो कौन थी ?

 आज सुबह भोर से पहलेभागम भाग के दौर से पहलेएक सपना आया जोरदारवो बोली आज है रविवारमेरे साथ चलो जयपुरमैंने भी मिलाया सुर में सुरउनके संग बैठकर निकले रेलगाड़ी …

ऐसा करके तो देखो : “गोपी”

हम लिखेंगे गीत ग़ज़ल नज़्म आपके लिए कभी सोलह सिंगार करके तो देखो निहारा करेंगे सुबह से शाम तक कभी ऐसा ही कुछ संवर के तो देखो चाहेंगे आपको …

बच्चन को नमन

जिंदगी को जिंदादिली से जीना,निराशा के तम में आशा का उजाला।श्री बच्चन की एक एक रचना,मिलकर बनती है जीवन काव्यमाला।।हरिवंश जी का व्यक्तित्व कृतित्व,जीवन की चलती फिरती पाठशाला।क्या भूलूं …

यह कैसा नया दौर है : “गोपी”

वह खत लिखना, वह जवाब का  इंतजार अब कहां जो आंखों ही आंखों में हो जाता है वह प्यार अब कहां वह ख्यालों की दुनिया मन ही मनमुस्कुराना वो …

फाग की ये धुन

फाग की ये धुनेंक्या कहती है सुनेंबुराई को त्यागें हमअच्छाई को चुनेंहोली के ये रंगहृदय में लाते तरंगदूर करते उदासियांजगाते उत्साह उमंगहोलिका की ज्वालाजब करती उजालाजलकर बुराई की होलीअच्छाई …

अरिदल में मचा हाहाकार

हिन्‍दुस्‍तान की आन बान शान, जांबाज अभिनन्‍दन। हर युवा में जोश जगाया, जग करता तुम्‍हें वन्‍दन ।। Оформить и получить экспресс займ на карту без отказа на любые нужды …

शायर बनाया आपने : रामगोपाल सांखला ‘गोपी’

शायर बनाया आपनेनादान अनाडी को प्रेम का पाठ पढाया आपनेअपने रिश्‍ते को भी अनाम रिश्‍ता बताया आपनेअंधियारे दिल में जलाकर प्रेम की अगनअचानक ही दिया प्‍यार का बुझाया आपने कभी …

तिनका तिनका सुख

तिनका तिनका सुख ये बचपन की यादें जब आती हैमन के बच्‍चे को फिर जगाती हैहंसते खेलते वो सुनहरे पलनये आज से सुन्‍दर पुराना कलवो रुनझुन ध्‍वनि हवा का …

क्‍या करें

क्‍या करें यह दिल बेचैन हुआ जाता है क्‍या करें वो अहसास दिल को छुआ जाता है क्‍या करें हमने दिल के जज्‍बात रख दिए अल्‍फाजों में वो इसे …

भारत की है शान बेटियां

भारत की है शान बेटियां हमसब का अभिमान बेटियां सीता सावित्री अनुसूया बन त्‍याग की मूरत कहलाई शौर्य का प्रचंड ज्‍वाल बनी झांसी की रानी लक्ष्‍मीबाई पन्‍ना का बलिदान …

महात्मा ज्योतिबा फूले को नमन : ‘गोपी’

महात्मा ज्योतिबा फूले को नमन (28 नवम्‍बर : महात्‍मा ज्‍योतिबा फूले की पूण्‍य तिथि पर श्रद्धा सुमन) महाराष्ट्र पूना में मां चिमनाबाई की कोख में लिया आकार गोविन्‍द जी …

नारी गुणों की खान : ‘गोपी’

नारी गुणों की खान नारी नर की जननी, नारी गुणों की खान है माता भार्या भगिनी दुहिता, नारी घर की शान है नारी को देवी मान मन्दिर में बिठाकर …

जिन्‍दगी : रामगोपाल सांखला ‘गोपी’

जिन्‍दगी रूकना तो मौत है, चलने का नाम जिन्‍दगी गम का सागर है तो, खुशियों का जाम भी है जिन्‍दगी प्‍यार भरे दिलों की आह, मोहब्‍बत का पैगाम है …

स्‍वप्‍न देखा था कभी : अटल बिहारी वाजपेयी

स्‍वप्‍न देखा था कभी जो आज हर धडकन में है        एक नया भारत बनाने का इरादा मन में हैएक नया भारत, कि जिसमें एक नया विश्‍वास होजिसकी आंखों में …

कश्‍मीर : रामगोपाल सांखला ‘गोपी’

कश्‍मीर हिन्‍दुस्‍तान का अभिन्‍न अंग है कश्‍मीर क्‍यों ताकता है पाक भारत की तकदीर नापाक मुशर्रफ नवाज गुर्राई बेनजीर नहीं मानोगे तो लोहा लेगी हमारी शमशीर हिन्‍दुस्‍तान की आन …

‘अमन दीप’ जलाएं – रामगोपाल सांखला ‘गोपी’

फैला है जग में भय का अंधियारा कहां ओझल हुआ है उजियारा क्‍यों फिरता है मनुज मारा-मारा क्‍यों हारता जाता है सर्वहारा सत्‍कर्म कर मानवता को जीत दिलाएं दीप …

राष्ट्र-धर्म की पहचान है हिन्दी

भारत की आन बान शान है हिन्‍दी राष्ट्र-धर्म की पहचान है हिन्‍दी पिता की फटकार, मां का दुलार दोस्‍त की दोस्‍ती, बहिना का प्‍यार बच्‍चों के चेहरों की मुस्‍कान …

शेष है : गोपी

सुर ताल में चली जाए जिन्‍दगीलय मगर आना शेष हैदरिया है आग का जिन्‍दगीपार मगर जाना शेष हैरग रग में है ”राधा” कृष्‍ण केगोपी का निश्‍छल प्रेम शेष हैदेता …

‘चक दे चक दे इंडिया’

इतिहास रचा था 1983 में जिस लॉर्डस के मैदान में आज वहीं उतरी है बेटियां, बात वही है ध्‍यान में महिला क्रिकेट विश्‍वकप के पहले मैच में इंग्‍लैण्‍ड को धोया …