Author: mukta

जरूरत

आजाद समय के आसमान पर जब।जरूरत के कुछ बादल छाने लगे।हम दुश्मनों में देखो उन्हें आज।प्यारे से दोस्त नजर आने लगे।बाहों की कमानें कुछ खुलने लगी ।हाथों को हाथ …

अजीब दास्तान

 अजीब दास्तान💓💓💓💓💓💓💓मोहब्बत की दास्तान अजीब होती है।दूर हो साजन पर चाहत करीब होती है।रुसवा होता है दिल भरे जमाने मेंमजे लेता है हमें आजमाने मेंमगर हिम्मत कहाँ फिर धीर …

मेरी हिन्दी प्यारी

     मेरी हिंदी प्यारी --------------------माँ ने सिखाई अध्यापकों ने सुधारीमन की बात कहने में समर्थ मेरी दादी की प्यारी ।खुशबूदार फूलों की क्यारी ।।ऐसी है मेरी हिंदी प्यारी ।।साधन …

क्यों आज भारत बंद है?

भारत माता फ़िक्रमंद है।क्यों आज भारत बंद है।सुनसान पड़े हैं बाज़ारजीविका की चाल मंद है।रेहड़ियां सभी जली हुईडरे से फल और कंद हैं ।देशभक्ति ओड़े चल रहेअहं के गूंजते …

बारूद का ढेर

बारूद का ढेर💣💣💣💣जनसंख्या बनी बारूद का ढेर।संभालो कहीं ना हो जाए देर।तीन प्रतिशत मात्र भूमि का हिस्सा ।सत्रह प्रतिशत जनता का किस्सा ।संसाधनों का नित लुट रहा कुबेर।जनसंख्या बनी …

सच्ची सफलता

निचली डाल के वो फल।।अंजुली में भरा ये जल।।देते सफलता का भास।।कि अब मिट जाएगी भूख।कि अब मिट जाएगी प्यास।।पर क्षणिक है यह उल्लास ।।है बस कुछ पलों की …

मेरा मन वृंदावन

।।मेरा मन वृंदावन ।।मोहन मुरली तुम्हारी प्यारी।सुध बिसराई मोरी सारी।कान्हा-कान्हा जपूं निसदिन।कृष्णा मेरा मन वृंदावन ।।देखो गैयां खूब संवारी।गूंजी कहीं बांसुरी न्यारी।कान्हा-कान्हा जपूं निसदिन।कृष्णा मेरा मन वृंदावन ।।दूध-दहीं की …

राखी की बधाई

ओस के मोतियों की छलकी गगरिया ।ऊषा रानी ओड़ रश्मि चुनरिया।आकाश में अरुणाई भर लाई।शुभ घड़ी, प्यारी बेला है आई।सबको बधाई राखी है आई।प्यार की नमी से नम हुए …

अनोखी राखी

सुनहरी किरणों की ओड़ चुनरिया।सुंदर रूप प्रकृति ने सजा लिया।केसर के पुष्पों में नदियों के जल से दे छींटे सिंदूरी तिलक तैयार किया।लगा कर अरुण तिलकआकाश के भाल पर …

पर्यावरण

पर्यावरण*************खड्ग उठाए वो कौन है?क्यों तू अब भी मौन है ।प्रदूषण बन खर-दूषणभेद रहा ये आवरण।छिन्न-भिन्न पर्यावरणप्राण लीलता वातावरणमृत्यु की तू छोड़ शरणक्रांति का तू कर वरणजीवन तुम्हें है …

माँ अब बूढ़ी लगने लगी है ।।

माँ अब बूढ़ी लगने लगी है—********************माँ के जगने सेजगता था घर-आंगन ।।सूर्य रश्मि छिटक कर ।धूल पर बिखर कर ।कर सुरम्य वातावरणबन जाती थी पावन।।अब वो माँ निस्तेज सी …

दस्तक

शब्दों का क्या कामबस नजरों की होते ही दस्तक ।मिठास गुड़-शक्कर सीजो जुबां में घोले शरबत।अजी दिल वाले तो गूंगे-बहरे हैं ।तुम कह दो जो कहनाउन्हें कहाँ किसी शोर …

मृगतृष्णा

मृगतृष्णा•••••••••••••छोटे -छोटे पाँव ले जन्माले छोटे -छोटे हाथ ।।छोटे-छोटे कदमों से हीआंगन था लेता माप ।।निर्भरता लगी चुभने फिररोक-टोक नहीं जंचती थी।चंचल मन की मर्जी थी ।आजादी की जल्दी …

प्यारी निशा

।।प्यारी निशा।।गाड़ी रुकने का शोर हुआ।मन व्याकुल उस ओर हुआ।दरवाजा खुला औरउतरी निशा !!मन में कौतूहल सा हुआ।तभी डाक्टर साहिबा ने हाथ हिला।सुबह का अभिवादन था किया।हमने भी मुस्कान …

याद आ गया—!!

एक दिन वो मिलीवही पुरानी गलीदिल पे ये हाथ थाबच्चा उसके साथ थाSmile उसने जो कियाआगे था मैं बढ़ गयाचक्कर में पड़ गयाकि Hi बोलूं, यां नमस्ते प्रियामैं भी …

चश्मे का नंबर बढ़ा

चश्मे का नंबर बढ़ा !!———————————-बिन चश्मे का बचपन थाहर कोई दोस्तहर कहीं अपनापन था।ज्यों-ज्यों चश्मे का नंबर बढ़ा ।त्यों-त्यों सच्चाई से पर्दा हटा ।राजनीति का बुखार कुछ ऐसा बढ़ा।पैनी …

राक्षस की जीभ

पेड़ों के झुरमुट से झांकतीमीलों से अपना विकास आंकतीशहर से कस्बे , कस्बे से गाँव तकमानव की यह रचना अजीब।।यह काली कोलतार की जीभ।।राह राही की मंजिल का।रूप कहीं …

हे प्रेम तुम्हारी मज़दूरी में

।। हे प्रेम तुम्हारी मज़दूरी में ।।हे प्रेम तुम्हारी मज़दूरी मेंडर- डर के आगे बढ़ते हैं ।चंचल तू हमेशा बनी रहे।तेरे माथे पर न शिकन पड़े ।कुछ झूठा-झूठा हँसते …

चित्तचोर

सूर्य दिन, रात्रि चंद्र संगउन्माद मिलन का करे हिलोर ।।नियम यही अविरल क्रम से,निरंतर चले है चहुँ ओर ।।सागर गगन छूने को आतुर,लाए अम्बर में घटा घनघोर ।।नाव खेता …

धर्म

धर्म—————————–‘जिस पल पसीजे, तेरा दिलजिस पल पसीजे, तेरा ज़मीरजिस पल पसीजे, तेरी आत्माउस पल-उस पल- उस पल कोऐ! इंसा ,थाम ले-पकड़ लेमत छोड़संभाल भविष्य की धरोहरऐ मानव!है तेरे ही …

ज़िद और अदब

वो तेरी तरसी निगाहों कावो हर बार का उलाहना ।।और धक् से मेरी धड़कन कायूँ आने से रुक जाना ।।पास आने की तेरी शिद्दत कामुझे झूठ-मूठ सताना ।।और मेरा …

निर्लिप्त जड़ चेतन

निर्लिप्त जड़-चेतन—————————-एक कोनामेरा अपनाजंगल के कोलाहल मेंदिल की गहराइयों से शांतभूख अनगिनत रूपों मेंअभी भी बन कर हवामंडरा रही चहूँ ओर मगरखुद को खुदा से मिला रहा हूँ ।।रम …