Author: mukeshpandit

हिन्द में तो मज़हबी हालत है अब नागुफ़्ता बेह

हिन्द में तो मज़हबी हालत है अब नागुफ़्ता बेह मौलवी की मौलवी से रूबकारी हो गई एक डिनर में खा गया इतना कि तन से निकली जान ख़िदमते-क़ौमी में …