Author: md. juber husain

कमाल है,,,,

कमाल है,,,,,उगते सूरज को देखकर पता चला किबहुत ही खूबसूरत है आपकी नगरीवो मोहब्बत की नगरी की रोशनी तो बखूबी कमाल हैना तिशनगी का शिला,ना गम-ए-वक़्त मिलासुंदर सी बगीचा …

उम्मीद की किरण,,,,,,,

उम्मीद की किरण,,,दिल के आसियाना मेंजलाया प्यार का दीपजल गया आसियानारह गई जलनकही तो दिखाई देउम्मीद की किरणरह गए तन्हा ग़मों के आह परग़मों को भी रोना आयेपर ना …

क़ब्र की मिट्टी

क़ब्र की मिट्टीमौत का मातम तोछाया है इस कदर कीख़ुशी को पनाह ना मिल पाएआस-पास तो ढूंढते हैंहम दर्द मेरेकही क़ब्र की मिट्टी ना उठा ले जायेउनकी आँखों की …

चला-चल

दे हौसला बुलंदी कोना हो कभी विफ़लथाम अपने मन को तुमचला-चल,चला-चल –2सफलता चूमेगी कदमतू लगा के देख दमसुन तू अपने दिल कीहर हद को तू लाँग देचाहें हो ना …

प्यार की नाव

प्यार की नावचाहत की नदियाँ मेंप्यार की नाव को रखादिल की कागज़ से बनाया था इसेअभी भिंगाओ ना इसेजिंदगी के घेरों से दिल रैन-शबरसाँसों की खुशबू में सजाया था …

तू प्यार हो मेरा,हो मेरी जिंदगी,,,,,by-md.juber husain

तू प्यार हो मेरा,हो मेरी जिंदगी——–मु. जुबेर हुसैनआज हाल-ए-दिल की बाते कह देंगे सभीतू प्यार ही मेरा,हो मेरी जिंदगी,,,मिले चाहें फूलों का डगरमिले चाहें काँटो का सफ़रवादा किया हैं …

दिलकश मिठाईयाँ

दिलकस मिठाईयाँ खुशियों भरी बातें हमे खुशियाँ देती है, जिन्दगी के सारे गम वो छीन लेती है, मुश्किल से मामले भी हल हो जाते है, आगे बड़ने के रास्ते …

एक मुलाक़ात….

एक मुलाकात______क्या रिश्ता है तुझसे मेरा..बता पाओगे मुझे ज़राक्या नाम दूँ…कुछ तो कहो ज़राना तुम जीवन साथी…ना ही हो मेरे साथी…फ़िर भी…हर पल तुम्हेही महसूस हूँ करती….ऐसा होता है …

एक मुलाक़ात….

एक मुलाकात______क्या रिश्ता है तुझसे मेरा..बता पाओगे मुझे ज़राक्या नाम दूँ…कुछ तो कहो ज़राना तुम जीवन साथी…ना ही हो मेरे साथी…फ़िर भी…हर पल तुम्हेही महसूस हूँ करती….ऐसा होता है …

आन का सवाल

आन का सवाल……. देखती रह जाये दुनियाबनानी ऐसी मिसाल हैजीत कर रहना है अब तोआन का सवाल हैं……. इरादे नेक,मकसद पाकपावन साफ हैसब है बराबरऐसा ये इन्साफ हैदिन्दगी के गम मिटा …

मुस्कान

मुस्कान…ऐसी है तेरी मुस्कानमुरचित चेहरे पेला देती है जानऐसी है तेरी मुस्कान…कोमल सी तुम्हारे गात्जैसे किचड़ से निकल करमेरे ऑंगन मेखिल-खिला रहे जलजात्तेरी ऐसी मुस्कान सरोवरजिसमें खिल-खिला रहा प्राणजो …

ऐ जाते हुऐ लम्हे…(गज़ल)

ऐ जाते हुऐ लम्हें(गज़ल) ऐ जाते हुऐ ठहर क्यू नहीँ जाता जो बीत चूका हैं वो गुज़र क्यू नही जाता ना चाहते हुऐ भी ढूँढती क्यू हैं निगाहें किया …

सबसे प्यारा देश हमारा

सारी दुनिया में ऐसा देश नही ऐसा रंग रूप नही ऐसा भेष नही जो प्यारा हैं सबसे न्यारा…… वो देश तो हैं हमारा सबसे प्यारा देश हमारा……. न जात-पात,न …

***चिड़िया***

सबसे अच्छी लगती चिड़िया प्यारी-प्यारी लगती हो कितनी अच्छी लगती हो,जब तिनके से सुन्दर घर बनती हो आती बैठ झरोखे पर फिर तिनका रख जाती हो मटक-मटककर,फ़ुदक-फुदककर चह-चहकर मीठी …

फूल

रंग-बिरंगी फूल खिले हैं देखो इस बागो मे कितनी प्यारी-प्यारी लगते फूल कितना मनोरम लगते, भौरे भी गुनगुना कर इन्हें मीठी गीत सुनातश , सब झूमते सब गाते इस …