Author: kamalbhansali

एक कोना मेरा : कमल भंसाली

एक कोना मेराअब भी जलताभास्कर की तरहनन्हा सा है दिलकैसे दर्द उगलता ?सरहदे दिल की मखमली होतीजब चोट कहीं से भी पंहुचतीमन की मुट्ठी में बंध हो जातातन की …