Author: deveshdixit

मुरझाया नोट

मुरझाया नोट करारा नोट, पहुंचा जब तिजोरी में लेकर अंगड़ाई सुस्ताने लगा तिजोरी में न कोई उसको दखल दे सुस्ताया अपनी तड़ी में मुरझाया नोट एक तभी दाखिल हुआ …

तेरा दुलार याद आता है

कभी तुम्हारी हंसी, कभी तेरा डांटना याद आता है। आँखों में तुम्हारे नमीं, माँ तेरा दुलार याद आता है। लगती कभी चोट मुझको, तू गले से मुझे लगाती। छोड़ …

क्योंकी मौका नहीं मिलता

जब बनती हैं पंक्तियाँ तो कागज कलम नहीं मिलता लिखना चाहता हूँ कविता मगर मौका नहीं मिलता तनहाइयों को समेटना चाहता हूँ दिल से निकलती चंद पंक्तियों में पर …

मच्छर से साक्छात्कार

मच्छर से साक्छात्कार मच्छर बैठा हाथ पर मुझे काटने के लिए हाथ झटका एक तरफ उसे भगाने के लिए नहीं काट पाया मुझे मच्छर तो आ गया मेरे स्वप्न …

गुलाब का सौन्दर्य

गुलाब का सौन्दर्य गुलाब का सौन्दर्य ऐ गुलाब तुम्हारा रूप, एक कमाल है । जिस हाथ में जाए, वो एक धमाल है । तुम्हारी खुशबू को प्रकृति ने दिया, …

अँधेरे में उजाले की तलाश

अँधेरे में उजाले की तलाश“   अँधेरे में उजाले की तलाश है मुझे वीराने में बहारों की तलाश है मुझे मृत्यू में जीवन की तलाश है मुझे और क्या …

निहारो मत चाँद को

निहारो मत चाँद को निहारो मत चाँद को वो शर्मा जाएगा तारों ने घेर रखा है उसे गुस्सा आ जाएगा   तपिस बहुत है तुममें तारों कोई जल जाएगा बादलों ने …