Author: Deep

तू मरती रही….

ज़िन्दगी…..तू और वक़्तसाथ न हुए,तेरे होते वक़्त कटता रहा,वक़्त होते, तू मरती रही …ज़िन्दगी…वक़्त के साथ तेरी जीने की कोशिशेंजल गयी सब झुलसती रही…वक्त होते, तू सुलगती रही…राख में …