Author: barkhar7

Do ajanabee

दो अजनबी एक रास्ते पर टकराए थेथे एक दूसरे से अनजान वोएक दूसरे की झलक दिल मे बसाये थेचले थे अपनी ही धुन में वोक्या पता था मंजिल दोनों …

ससुराल की गली

खोया बचपन, खोयी जवानीअब मै हुई बड़ी, लोआई ससुराल जाने की बारीससुराल मुझे जाना हैकितने ही सपनो को सजाना हैअपनी ख्वाइशो को, अपने अरमानो कोमुट्ठी मे बन्द कर जाना …

प्यारी सिया

नन्ही सी परी बादलो से निकलीटुकुर टुकुर देखतीचुपके चुपके नीचे आयीनन्हे हाथो से मुझे बुलाकरअपनी झलक दिखायीउसकी मीठी वानी नेदिल मे उमंग जगाईकौन थी वो जाने क्यों उसे देखकरमेरे …

यादगार पल

हर शब्द लफ़्ज़ो से बयान नहीं होतेकुछ आँखो से पड़े जाते हैकुछ लोग दूर होकर भी दूर नहीं होतेदिल मे बस जाते हैबहुत लोग ज़िन्दगी मे आते जाते हैपर …

दर्द ए दिल

तुझे पाकर क्या पाया हैंबस अपने दिल को रुलाया हैंतेरी बेरुखी को अपनाया हैंउसमे अपना जीवन बिताया हैंतेरी बेवफ़ाईओ ने दियामुझे मेरे प्यार का सिलातेरी नफ़रतो से मिलामेरे दिल …

झगड़ा

झगड़ाक्यों होता है ये झगड़ादो लोगों की बीच की टक्करार है इसमेदो दिलो की टूटने की आहट हैं इसमेछोटी छोटी बातों से शुरू होकरबड़े बड़े मुद्दे पर खत्म होता …

कल्पना

मैं हर वक़्त तेरे साथ हूँतुझसे जुड़ा एहसास हूँतुझ से दूर था ही नही कभीतेरे दिल के बहुत पास हूँमें तेरा साया हूँजो एक याद बनकरतुझ मे समाया हैमैं …

आग

वो रातों का पहर , वो शान्त समावो घड़ी कि सुई कि, टिक-टिक टिक टिकनशे में सोया सारा जहांफ़िर अचानक क्या हुआधुआँ ही धुआँ , धुआँ ही धुआँवो सब …

बचपन

बचपन कितना सुनहरा है ये बचपनबचपन की यादो में खोया जहांउसकी मिट्ठी यादो में सोया आसमानखिल-खिलाती धूप में , दौड़ता भागता बचपनलहराती ठंडी हवा में , मुस्कुराता बचपनटिमटिमाती रातो …

akelaa

मेरे अंदर एक आग हैंजिस में मैं जल रहा हूँबस अकेला बिना किसी साथ केअपनी ही धुन मेंअपना एक लश्य परपता नहीं कहाँ ओर कब तककिस मंजिल पर चल …

अपने आप से लड़ो

जीवन कि गहराईयों को कोई नहीं समझ पाया हैखुद से लड़ने वाला ही इसका भेद जान पाया हैंदूसरे को दोषी ठहराने से पहलेजिसने खुद को दोषी ठहराया हैंउसने ही …