Author: ashu

सूरज

चलो चलें सूरज की आेर राह कठिन है बहुत मुश्किल है अपने मन में भी साहस बल है बाधा पग पग पर डरा रही है पर दृढ़ निश्चय और …

खुसबु

जैसे फुलों की ख़ुशबू से सब लोगों की सांसे महकें खुदा कुछ कर ऐसा मेरी ग़ज़ल से दिल भी महकें जितनी भीड़ बढ़ती है लोगों की तनहाई बढ़ती है …

कविता

ले लो कविता ले लो कविता कवितावाला आया है कम से कम दामों में सुंदर सुंदर कविता लेकर आया है बाबू जी बस आवाज़ देना मैं पास आ जाऊँगा …

खुदा

वैसे तो दिल किसी बात का मोहताज क्या है अगर तुम साथ नहीं हो तो फिर साथ क्या है जबसे तेरी झलक मिली सब ख़्वाहिश मर गई मैं हैरान …