Author: Abhishek Rajhans

तुम्हारी तरह ही सुरत मेरीतेरी लहू के जैसा रंग भी है मेरामैंने भी कुर्बानियाँ दी हैअपने देश के लिएतिरंगे में लिपट कर मैं भी घर लौटा हूँ कई बारमेरे …

इश्क़ मुबारक

तुम,हाँ तुममेरा पहला प्यार न सहीपर आखिरी जरूर होतुमसे वादा है मेरातुमसे पहले जो भी रहा होपर तुम्हारे बाद अब और कोई नहीभूलना मुश्किल जरूर होता है पहला प्यारपर …

ये दिल बेचारा

तुम्हारे जाने के बाद भीसब कुछ ठीक ही रहेगादिल भले मेरा जरूर थोड़ी सिसकियां लेगाइश्क की राहों में गुनाहों कीइतनी तो सजा सहन कर ही लेगाइसे पता नहीं था …

तुम्हें कहने से डरता हूँ

तुम्हें खोने से डरता हूँइसलिए तुम्हें कहने से डरता हूँतुम दूर न हो जाओ कहींबस इसलिए मैं रास्तों परतुम्हारे पीछे-पीछे चलता हूँजब भी गिनाने लगता है खामियाँ कोई तेरीमैं …

ऐसे कैसे भुलाने दूं तुम्हें

तुम चाहे जितनी कोशिश कर लोमुझसे दूर जाने की मुझे भूल जाने कीपर ऐसे कैसे भुलाने दूं तुम्हेतुमसे की हुई हर छोटी-छोटी बातेऔर कभी-कभी ही सही पर हुई जो …

आंदोलनो का देश है भारत

आंदोलनों का देश है भारतऐसे नहीं ये सोने वालातुम बंद कमरों में बैठ कर भाग्य विधाता बनने की कोशिश मत करोये देश न राम के नाम पर लड़ेगाना रहीम …

चाँद, आज आना जरूर

ऐ चाँद,सुनो ना..सुन सकते हो क्या मेरीतुम यूँ हर रोज आसमां मेंक्यों आते रहते होक्या किसी को निहारने आते होया फिर तुम्हें भी किसी का इंतज़ार रहता हैबचपन से …

आज कल उनसे अब

आज कल उनसे अबमेरी पहले की तरह बात नहीं होतीअब पहले की तरहमुलाकात भी नहीं होतीउनकी चूड़ियों की खनकअब मुझे सुनाई ही नही देतीउनके जाने सेमेरा जमाना चला गयामेरा …

माँ, बस मेरे लिए

मैं तुझमे ही रहता रहापल-दर पल,महीनों का सफ़रमैं तुझमे रोज-रोजबढ़ता ही रहासुनने को मेरी किलकारियांन जाने तुमने कितना त्याग कियाव्रत किया,अनुष्ठान कियादान दिया ,बलिदान दियामाँ ,बस मेरे लिएतुमने स्वयं …

हमारी पहली बरसात

मैं ,तुम औरहमारी पहली बरसातभींगे-भींगे से एहसासो के साथबून्द-दर बून्द बहकाने लगे थेसावन की पहली फुहार थीजज्बातों के वज्रपात हो रहे थेकैसे ये बादल तुम्हे छत पर देख कर …

बाधाएं आती हैं तो आये ना

बाधाएं आती हैं तो आये नाआने से किसने रोका हैसंघर्षों से जो घबराया हैक्या कुछ उसके दामन में आया हैजो गिरा नहीं वो उठा भी नहींजो ज़िंदा हैकिसने कह …

इश्कबाज..

क्या सच मेंकुछ बातें कहनी जरूरी होती है क्याकुछ चीज़ें ऐसे भी तो लोग समझ लेते हैकभी आँखों-आँखों सेतो कभी इशारा करके हीजज्बातों को जाहिर करने के लिएअगर जुबान …

झूठा प्यार

जाने क्या है ऐसा जो दिल मे मेरे चुभता हैधीरे-धीरे रिसता हैभीतर ही भीतर जलता हैटूटता है ,बिखरता हैना संभले संभलता हैकिस्मत ने कैसी खींची है लकीरेसब कुछ है …

अनकहा प्यार

शीर्षक-अनकहा प्यारमैं जानता था फिर भी झुठला रहा थाएक बार नहीं बार-बारजितनी दफा तुम मिली ना मुझेशायद उतनी बारतुम्हे देख कर जो हाल होता था ना मेरा कहाँ बता …

मैं अभी ज़िंदा हूँ

आज अरसे बाद एहसास हुआ है फिर सेकी मैं ज़िंदा हूँसाल दर साल जैसे वक़्त बीत रहा थामैं धीरे-धीरे मर ही तो रहा थामेरी बढ़ती नाकामियों ने तो लगभग …

अमेरिका वाले बेटे का पिता

मैं एक बाप हूँअमेरिका वाले बेटे का बापऔर मुझे गर्व भी है मेरे बाप होने कामैंने अपने उम्मीदों से भरे बेटे कोआसमां की ऊंचाइयों तक पहुँचा दिया हैजहाँ से …

ओ बदरा प्यारे

ओ बदरा प्यारे मन के दुलारे कब बरसोगे तुममेघ लिए आँगन हमारेधरा की प्यासअपने नैनो से बुझा रहेमनमोहिनी मोरनी के भाग्य जगा रेओ बदरा प्यारेदेख खेत में हल लिए …

मासूमियत वाला इश्क़

आखिर क्यों तुम्हे देख करसिर मेरा झुक जाता है क्या तुम ख़ुदा होजिसकी मैं इबादत करने लग जाता हूँतुम्हे देख कर मैं क्यो तू हो जाता हूँऐसा लगता है …

आखिर क्यों तुम…

जब भी मैं होता हूँ तुम्हारे आस-पासक्या तुम्हें कुछ भी नहीं होता हैक्या तुम्हारे भीतर वो सुगबुगाहट नहीं होतीक्या तुम्हारी आँखे मुझे तलाशने की कोशिश नहीं करतीक्या तुम्हें मेरी …