प्राथमिकता – अनु महेश्वरी

सुबह सुबह न्यूज़ चैनल लगा,देश में क्या हो रहा कहाँ,देखने का मन बना,बैठी, टीवी के सामने,पहला न्यूज़ चैनल लगाया,वहाँ मैंने कुछ ऐसा पाया,कोनसा खिलाडी आईपीएल में ,कितने में बिका, यह दिखाया जा रहा था,बंधुआ मज़दूरी का दौर मानो,देश में, अभी भी चल रहा हो,फर्क सिर्फ इतना सा है,पहले बोली लगती थी, कोड़ियो में,अब लगती है बोलिया, करोड़ो में,भारत जैसे देश में,जहाँ लाखो लोग,भूखे सोते हो,जहाँ लाखो के सर पे,छत न हो,औचित्य आईपीएल का,वहाँ, समझ नहीं आता|फिर मैंने दूसरा चैनल बदला,वहाँ छाये हुए थे,फ़िल्मी दुनियाँ के सितारें,कौन कहा घूमने गया,किसके साथ गया,किसने किसे क्या तोहफा दिया,अब इन सब खबरों से,साधारण जान मानस को,क्या मतलब हो सकता,किसी की निजी ज़िन्दगी से,क्या फरक पड़ेगा,हमारी ज़िन्दगी में,नहीं समझ आया|एक के बाद एक,चैनल बदलती गयी,इसी उम्मीद में,कही तो, दिखा रहे होंगे,सही सच्ची ख़बर,जो मेरे और आपके,हम सबकी मतलब की हो|अब लगता, यह तय होना ज़रूरी है,क्या हो खबर की प्राथमिकता?इतना बड़ा देश अपना,मानो कही भी,अच्छा कुछ हो ही,नहीं रहा|या तो केवल सकारात्मक,या केवल नकारात्मक ख़बरें,दिन भर चलाते रहते|केवल नकारात्मक खबरों से भी,लोगो का मनोबल गिरता है|एक ही खबर को,बार बार दिखाते रहना,और सनसनी की तरह,खबरें जो दिखाते,थोड़ी समझदारी,थोड़ी जिम्मेदारी,दिखाए तो बेहतर हो,चीरफाड़ के नहीं,ज्यों की त्यों दिखाए तो अच्छा हो,केवल अपने चैनल के लिए नहीं,देश का भी थोड़ा सोचे तो अच्छा हो,बिना पक्षपात के दिखाए तो अच्छा हो|अपने ख़याल बताने की क्या जरुरत?लेकिन हैरानी तब होती,बिना जांच किए गलत खबर भी,बस सबसे पहले दिखाने के लिए,जल्दबाजी में चला देते कभी कभी|इसी तरह चलता रहा तोकोई भी ख़बर देखने,या सुनने के बाद,विश्वास होना,मुश्किल होगा| अनु महेश्वरीचेन्नई

Оформить и получить экспресс займ на карту без отказа на любые нужды в день обращения. Взять потребительский кредит онлайн на выгодных условиях в в банке. Получить кредит наличными по паспорту, без справок и поручителей

22 Comments

    • ANU MAHESHWARI 19/05/2017
  1. Shishir "Madhukar" 19/05/2017
    • ANU MAHESHWARI 19/05/2017
  2. Madhu tiwari 19/05/2017
    • ANU MAHESHWARI 19/05/2017
  3. shikha nari 19/05/2017
    • ANU MAHESHWARI 19/05/2017
  4. Sukhbir95 19/05/2017
    • ANU MAHESHWARI 19/05/2017
  5. raquimali 19/05/2017
    • ANU MAHESHWARI 19/05/2017
  6. डी. के. निवातिया 19/05/2017
    • ANU MAHESHWARI 19/05/2017
  7. bindeshwar prasad sharma 19/05/2017
    • ANU MAHESHWARI 19/05/2017
  8. Meena Bhardwaj 19/05/2017
    • ANU MAHESHWARI 19/05/2017
  9. babucm 19/05/2017
    • ANU MAHESHWARI 20/05/2017
  10. MANOJ KUMAR 20/05/2017
    • ANU MAHESHWARI 20/05/2017

Leave a Reply