नशा खुरानी – बी पी शर्मा बिन्दु

 नाम ही काफी हैसमझनेपरखने के लिएकिसी के पासकुछ भी नहींआम आदमी की तरहसारा व्यवहारमिलता जुलताकोई अंतर नहींअंतर हैऑख में धूल छोकनाहाथ साफ करनापूरे भारत मेंकहीं कमकहीं पर ज्यादाहजारों फंसते हैबेहोश होते हैसफर मेंकोई सुरक्षित नहींबस स्टेण्डस्टेशनरेलगाड़ी की सफरबाप रे बापसबसे खतरनाकगरीबों की खैर नहींकिसी कोबेहोस उतारा जातानशे की खुराक ज्यादातो सदा के लिएसीधे मृत्युलोकहोस आयी भीतो हॉस्पीटल मेंरेल केखाली डब्बे मेंहोस आयीतो कुछ भी नहींबिलकुल खालीजाना है कहींपहॅुंच गया कहीं औरगनतव्य पहॅुचने मेंनानी तक याद आ जातीन पैसा रहतान खाने को कुछटी टी साहब पकड़ेतो और फंसेजेल की खिचड़ीघर का आटा गीलगये थे पैसा कमानेभाई गेहूॅ बेचकर छुड़ा लायेस्टेशन के कर्मचारीआर पी एफवाह रे इनकी नीयतिसह देते हैं उन्हेंसारे उल्टे सीधे कामछीन छपट पॉकेटमारीगले की चेनखिचने से लेकरबैग चप्पल जूते आदिपलक छपका कि छू मंतरसारे के सारे गिरोहफिक्स होते हैंमहिने परव्यवस्थापक चाहेतो खैर नहीं उनकीहवा में उड़ा सकते हैचंद रूपयों के लिएबल देते हैवाह रे हमारी संस्कृतिहमारा भारत देशफिर भी महानजागो और कुछ करोनही ंतोआप भी फंसोगेमृत्यु के समयचैन नहीं मिलेगारोने चिल्लाने सेप्राण नहीं निकलेंगेशैतान मत बनोबनने भी मत दोकिसी कोहैवानियतदरिंदगी छोड़ोसाफ करो उनकोकठोर सजा दिलाओबी  पी  शर्मा   बिन्दु

Оформить и получить экспресс займ на карту без отказа на любые нужды в день обращения. Взять потребительский кредит онлайн на выгодных условиях в в банке. Получить кредит наличными по паспорту, без справок и поручителей

18 Comments

  1. डी. के. निवातिया 13/05/2017
    • bindeshwar prasad sharma 13/05/2017
    • bindeshwar prasad sharma 13/05/2017
  2. Shishir "Madhukar" 13/05/2017
    • bindeshwar prasad sharma 13/05/2017
  3. MANOJ KUMAR 13/05/2017
    • Bindeshwar Prasad sharma 13/05/2017
    • Bindeshwar prasad sharma 17/05/2017
  4. Meena Bhardwaj 13/05/2017
    • Bindeshwar Prasad sharma 13/05/2017
    • Bindeshwar prasad sharma 17/05/2017
  5. ANU MAHESHWARI 13/05/2017
    • Bindeshwar Prasad sharma 13/05/2017
    • Bindeshwar prasad sharma 17/05/2017
  6. babucm 13/05/2017
    • bindeshwar prasad sharma 14/05/2017
  7. Bindeshwar prasad sharma 17/05/2017

Leave a Reply