देश के लाल फना हो जाते है — डी. के. निवातिया

देश के लाल फना हो जाते है

***

पुराने जख्म भरते नहीं की नये फिर से मिल जाते हैसेनापतियों की गैरत पे जाने क्यों ताले पड़ जाते हैचलता रहता है दौर निरंतर असफल योजनाओ काइसी संशय में कितने देश के लाल फना हो जाते है !!!कब समझोगे खून की कीमत क्यों बात में उलझाते होनहीं सोचते उचित हल की, घोर निंदा कर रुक जाते होक्यों नहीं खोलता खून तुम्हारा, सत्ता के नशे ने चूर होन लेते हो कड़ा फैसला, जान बूझकर शेरो को मरवाते हो !!!कैसे करे कोई बरदाश्त जब शेर निसहाय दिखते हैश्वान और श्रृगाल सीने पे चढ़कर उग्र रूप धरते हैन लो हमारी धैर्य परीक्षा हर बार जौहर दिखाया हैएक तुम्हारी चुप्पी के कारण दुश्मन के हाथो मरते है !!!जर्रा जर्रा मालूम तुम्हे फिर क्यों बार बार चूक होती हैअसीमित संसाधन से लैस मौन अपनी बन्दूक होती हैकोई राज़ है इस बात में जो दुश्मन ऐसी हिमाकत करेसैनिक मरते अपने घर में सुरक्षा तुम्हारी अचूक होती है !!!कब तक चलेगा ये दौर और कितनी जाने जायेंगीश्वान भरेंगे हुंकार, और सिंहो की आन पे आयेंगीआज जरुरत जज्बे की जो जनता को दिखलाया थाकब तक माँ, बहने वीरो के शव उर से लगा के रोयेंगी!आज जरूरत है ऐसे कारकुन की जो कड़े फैसले कर दिखायेप्रियदर्शिनी की तरह देश हित में अपनों से ही लड़-मर जायेऐसे ही बुरे दौर से गुजरा था कभी हम सब का प्यारा पंजाबदिखा जौहर कर्तव्यनिष्ठा से, आतंक का निशान मिटाये !!!न तोड़ो जनता का भरोसा कुछ तो अब तुम काम करोकौन करेगा तुम्हारी सुरक्षा  इसका भी कुछ भान करोनजर टिकी है हर भारतवासी की उनका भी मान करोजिनके दम पर तुम्हारी प्रतिष्ठा उनका सम्मान करो !!!देख रही है झलकती आँखे तुम्हारी और आस लगायेदिल में दर्द बहुत बड़ा है शायद अब कोई मरहम लगायेसब कुछ है हाथ तुम्हारे तुम ही हो देश के पालनहारीकर जाओ कुछ ऐसा इतिहास भी तुम्हारा नाम दोहराये !!

!!!डी. के. निवातिया

*** *** ***

कारकुन :- शख़्सियत, दमबाज़, विलक्षणता

Оформить и получить экспресс займ на карту без отказа на любые нужды в день обращения. Взять потребительский кредит онлайн на выгодных условиях в в банке. Получить кредит наличными по паспорту, без справок и поручителей

24 Comments

    • डी. के. निवातिया 29/04/2017
  1. ANU MAHESHWARI 29/04/2017
    • डी. के. निवातिया 29/04/2017
  2. Shishir "Madhukar" 29/04/2017
    • डी. के. निवातिया 29/04/2017
  3. babucm 29/04/2017
    • डी. के. निवातिया 29/04/2017
  4. bindeshwar prasad sharma 29/04/2017
    • डी. के. निवातिया 01/05/2017
  5. Rajeev Gupta 29/04/2017
    • डी. के. निवातिया 01/05/2017
  6. arun kumar jha 29/04/2017
    • arun kumar jha 29/04/2017
    • डी. के. निवातिया 01/05/2017
    • डी. के. निवातिया 01/05/2017
  7. Madhu tiwari 29/04/2017
    • डी. के. निवातिया 01/05/2017
  8. mani 30/04/2017
    • डी. के. निवातिया 01/05/2017
  9. Rinki Raut 01/05/2017
    • डी. के. निवातिया 01/05/2017
  10. Meena Bhardwaj 01/05/2017
    • डी. के. निवातिया 01/05/2017

Leave a Reply