रोलिंग कुर्सी – अनु महेश्वरी

बैठ, रोलिंग कुर्सी पे,घड़ी की सुई को, निहारती आँखे,कभी नज़रे उठती है, दरवाजे की तरफ़,कभी टेबल पे रखें, फ़ोन की तरफ है|आस उसने अभी भी, छोड़ी नहीं है,बस इसी उम्मीद में है, कब घंटी बजे,फिर बेमन से कुर्सी को, डोलाने लगती है,कभी अपने बीते कल में, झाकने लगती है|कभी, कितनी रौनक थी इस घर में,बच्चों की तरह तरह की आवाज़ों से,घर गूंजता रहता था हर वक़्त,आज जहाँ सन्नाटा पसरा है|उसके जन्मदिन पर यह कुर्सी,भेंट में मिली थी, साथ में कुछ सपनें भी,अपने खास ने कहा था, जब बूढ़ी हो जाओगी,अपने नाती – नातीन के साथ खेलना, बैठ इस पे|आज कुर्सी तो वही है,बस नाती- नातीन की जगह उनकी तस्वीर है,जिसे हाथ में लिए वह बैठी रहती कुर्सी पे,जो, अब बस उसकी, अकेली साथी है|चारो तरफ, अब अजीब सा सन्नाटा है,ओर बस घड़ी की सुई की टिक टिक है,या कभी तेज होती उसकी दिल की धरकने है,जो उस सन्नाटे को, चीड़ देती है|आँखे भी अब, पथरा सी गयी है,आंसू भी अब उसके, सूखने लगे है,अब भी दरवाजे की घंटी बजती ज़रूर है,जब खाना देने, डब्बावाला आता है|अभी भी उसकी उम्मीदें, कायम है,और न ही वह शिकायते करती है,कभी तो लौट कर वे, उसकी सुध लेंगे,इसी इंतजार में, वह वक़्त बिता रही है|माँ है, सभी से यही कहती रहती है,बच्चें किसी काम में फंस गए होंगे,माँ है, जिसकी ममता अपने बच्चों के लिए,कभी भी, ग़लत सोच ही नहीं सकती है|बैठ, रोलिंग कुर्सी पे,घड़ी की सुई को, निहारती आँखे,कभी नज़रे उठती है, दरवाजे की तरफ़,कभी टेबल पे रखें फ़ोन की तरफ है| अनु महेश्वरीचेन्नई

Оформить и получить экспресс займ на карту без отказа на любые нужды в день обращения. Взять потребительский кредит онлайн на выгодных условиях в в банке. Получить кредит наличными по паспорту, без справок и поручителей

20 Comments

  1. chandramohan kisku chandramohan kisku 22/04/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 22/04/2017
  2. Meena Bhardwaj Meena Bhardwaj 22/04/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 22/04/2017
  3. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 22/04/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 22/04/2017
  4. Abhishek Rajhans 23/04/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 23/04/2017
  5. C.M. Sharma babucm 23/04/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 23/04/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 24/04/2017
  6. Rajeev Gupta Rajeev Gupta 24/04/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 24/04/2017
  7. shivdutt 24/04/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 24/04/2017
  8. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 24/04/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 24/04/2017
  9. Madhu tiwari Madhu tiwari 25/04/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 25/04/2017

Leave a Reply